वेडिंग ड्रेस डिजाइनर (Wedding Dress Designer) कैसे बनें ?

नमस्कार! आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे वेडिंग ड्रेस डिजाइनर (Wedding dress designer) कैसे बनें?, (How to become a Wedding Dress Designer in Hindi) निश्चित तौर पर वेडिंग किसी भी इंसान के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता है जिस पर वह अधिक से अधिक खर्च भी करता है ताकि वह दूसरों से खूबसूरत लगे और अपने शादी के दिन को यादगार भी बना सके। इसके लिए हर इंसान यही चाहता है कि वह किसी बेस्ट डिजाइनर की मदद से अपना शादी का जोड़ा तैयार करवाए।

ऐसे में जो कैंडिडेट इस लाइन में है उनके लिए काम करने के काफी अच्छे अवसर उपलब्ध हो जाते हैं परंतु इस फील्ड में सफलता केवल वही व्यक्ति हासिल कर सकता है जिसमें फैशन की समझ होने के अलावा दूसरों से हटकर ड्रेस बनाने की क्वालिटी हो। अगर आप भी एक वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनना चाहते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें और जानें की किस तरह से आप इस क्षेत्र में काम कर सकते हैं।

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर (Wedding Dress Designer) कैसे बनें
वेडिंग ड्रेस डिजाइनर (Wedding Dress Designer) कैसे बनें

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर क्या होता है (What is Wedding Dress Designer in Hindi)

यहां सबसे पहले जानकारी के लिए बता दें कि एक वेडिंग ड्रेस डिजाइनर ऐसा एक्सपर्ट होता है जो शादी के ड्रेस बनाने का काम करता है। इसके लिए वह फैशन डिजाइनिंग या टैक्सटाइल डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद वेडिंग ड्रेस डिजाइनिंग का कोर्स करता है क्योंकि जब भी किसी के लिए उसकी शादी का ड्रेस तैयार किया जाता है तो उसके लिए काफी क्रिएटिविटी के साथ-साथ कुशलता भी बहुत जरूरी होती है।

इसलिए इस फील्ड में केवल वही कैंडिडेट कामयाब हो सकते हैं जो फैशन के अनुसार लोगों की शादी के अवसर पर उनके लिए ट्रेंडी और आकर्षक कपड़े तैयार कर सकें।

यह भी पढ़ें –

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनने के लिए प्रक्रिया क्या है

जो कैंडिडेट वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनना चाहते हैं उनके लिए सबसे पहले जरूरी है कि वह फैशन डिजाइनिंग या टैक्सटाइल डिजाइनिंग में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करें क्योंकि कैंडिडेट के लिए यह बहुत ज्यादा जरूरी है कि उसे विभिन्न प्रकार के डिजाइनों के अलावा हर तरह के फैब्रिक की जानकारी हो।

उसके बाद कैंडिडेट को चाहिए कि वह किसी प्रतिष्ठित संस्थान से वेडिंग ड्रेस डिजाइनिंग का डिप्लोमा सर्टिफिकेट कोर्स करें। इस तरह से इस इंडस्ट्री में काम किया जा सकता है।

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

इसके लिए कैंडिडेट में कुछ योग्यताओं का होना अनिवार्य है जिनके आधार पर ही वह इस इंडस्ट्री में काम कर सकता है जैसे कि-

  • कैंडिडेट ने फैशन डिजाइनिंग का कोर्स किया हो।
  • या फिर कैंडिडेट ने टेक्सटाइल डिजाइनिंग का कोर्स किया हो।
  • या उम्मीदवार ने ग्रेजुएशन के बाद वेडिंग ड्रेस डिजाइनिंग कोर्स किया हो।

आयु सीमा

  • कैंडिडेट की आयु कम से कम 18 साल तक होनी चाहिए।
  • इसके लिए अधिकतम आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई है।

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनने के कैरियर संभावनाएं क्या है

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनने के बाद कैंडिडेट की क्रिएटिविटी, बिजनेस स्किल, फैशन की स्ट्रांग नॉलेज के ऊपर उसका कैरियर सबसे अधिक निर्भर करता है जिसके अंतर्गत वह अपना स्वयं का भी काम शुरू कर सकता है या फिर वह किसी बड़ी या छोटी फैशन डिजाइनिंग कंपनियों के साथ भी काम करने के अवसर प्राप्त कर सकता है।

पढ़ें –इंटीरियर डेकोरेशन कोर्स (Interior Decoration Course) कैसे करें? Full Information

वेतन

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर का वेतन उसके स्किल और क्रिएटिविटी के साथ-साथ उसके काम करने की गति के ऊपर डिपेंड करता है। यह इंडस्ट्री ऐसी है कि शुरू में कैंडिडेट को थोड़ा सा स्ट्रगल करना पड़ता है लेकिन उसके बाद वह हर महीने लाखों रुपए तक भी कमा सकता है। लेकिन अगर शुरुआत के सैलरी पैकेज की बात की जाए तो इसके लिए उसे हर महीने 20 से 25 हजार रुपए तक का वेतन मिल जाता है और अगर वह किसी अच्छी और बड़ी कंपनी में काम कर रहा है तो तब उसका वेतनमान और भी अधिक हो सकता है।

पढ़ें –एनीमेशन डिजाइन (Animation Design Course) कैसे करें? Full Information

वेडिंग ड्रेस डिजाइनर के कार्य

एक वेडिंग ड्रेस डिजाइनर का काम बहुत ही ज्यादा जिम्मेदारी के साथ साथ महत्वपूर्ण भी होता है क्योंकि उसके द्वारा बनाए गए डिजाइन को पहन कर किसी शादी करने वाले व्यक्ति का दिन यादगार बनता है और इसीलिए उसे अनेकों काम करने होते हैं जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं-

  • वेडिंग ड्रेस को डिजाइन करने के साथ-साथ उसका पूरा पैटर्न बनाना।
  • ग्राहक से बातचीत करके उसकी जरूरत के अनुसार उसका ड्रेस तैयार करना।
  • जो भी वेडिंग ड्रेस तैयार करनी है उसका स्केच पेपर पर बनाकर उसको अप्रूव करवाना।
  • स्केच अप्रूव होने के बाद सैंपल बनाना।
  • अपने डिजाइन बनाकर सप्लायर्स को दिखाना और अगर उन्हें डिजाइन पसंद आ जाए तो उसके अनुसार ड्रेस तैयार करना।
  • अपने ग्राहक और सप्लायर से मिलने के लिए एक जगह से दूसरी जगह जाना जिससे कि उनकी आवश्यकता के हिसाब से ड्रेस तैयार किया जा सके।
  • ब्राइडल कंसल्टेंट्स के साथ मिलकर काम करना।
  • फैशन डिजाइनर और टैक्सटाइल डिजाइनर के साथ ड्रेस तैयार करना।

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको बताया वेडिंग ड्रेस डिजाइनर (Wedding dress designer) कैसे बनें?, (How to become a Wedding Dress Designer in Hindi) इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको यह भी जानकारी दी कि वेडिंग ड्रेस डिजाइनर कौन होता है और इसके लिए कैंडिडेट में कितनी योग्यता की आवश्यकता होती है।

इसके साथ-साथ हमने यह भी जानकारी दी की एक वेडिंग ड्रेस डिजाइनर के कार्य क्या क्या होते हैं और हर महीने उसे कितना वेतन मिल सकता है। इसके अलावा दूसरी अन्य बातों की जानकारी भी दे दी है।

इसलिए देखा जाए तो एक वेडिंग ड्रेस डिजाइनर के तौर पर कोई भी कैंडिडेट अपनी रचनात्मकता का प्रयोग करते हुए इस इंडस्ट्री में नाम और शोहरत दोनों कमा सकता है। बस उसे इसके लिए मेहनत और अपने स्किल्स को निखारने की आवश्यकता होती है।

अंत में हम यही कहेंगे कि अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इसे उन लोगों के साथ जरूर शेयर करें जो वेडिंग ड्रेस डिजाइनर बनने के इच्छुक हैं।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a