टाटा कंपनी का मालिक कौन हैं ?

TATA कंपनी जिसके बारे में हम सब जानना चाहते है. TATA भारत की एक मुख्य कंपनी है जिसकी भारत में कई अलग अलग कंपनियां हैं. भारत में टाटा की कई साड़ी अलग कम्पनिया हैं जो देश में हर क्षेत्र में अपने – अपने अलग – अलग क्षेत्र में योगदान देते हैं. इस लेख में आपको इसी टाटा ग्रुप ऑफ़ कंपनी के बारे में ही बताया जा रहा हैं. भारत में कई पुरानी कंपनी हैं जो अपने कार्यों के लिए काफी प्रसिद्ध है, ऐसे ही कंपनी में से एक टाटा कंपनी भी है. इस लेख को अंत तक पढ़े ताकि आपको इस विषय के सन्दर्भ में पूरी जानकारी मिल सके. 

टाटा कंपनी के बारे में 

भारत में टाटा मोटर्स सबसे पुरानी कंपनी हैं. सबसे पहले इस कंपनी ने वाहन बनाना और इसमें निवेश करना चालू किया था. इसके साथ ही शुरुआती समय में यह कंपनी केवल गाडिया ही नही बनती थी बल्कि इसके साथ यह और भी कई सारे प्रोडक्ट बनती थी. हम जिस टाटा की गाड़ियों को देखते हैं वो सारे कंपनी टाटा मोटर्स बनती है और यह टाटा मोटर्स, टाटा ग्रुप of कंपनी का ही हिस्सा हैं. कंपनी की शुरुआत के बाद इस कंपनी को “ टेल्को ” के नाम से जाने जाना लगा. 

वर्तमान में टाटा भारत का एक निजी व्यावसायिक कंपनी हैं. वर्तमान में इस टाटा कंपनी की कमान रतन टाटा के हाथ में हैं. पिछले 50 सालो से रतन टाटा इस कंपनी के साथ जुड़े हुए हैं. इस कंपनी को आज के इस स्तर पर लाने में रतन टाटा का काफी महत्व योगदान है. यह तो इस कंपनी की नीति रही हैं की टाटा परिवार के एक सदस्य हमेशा से ही कंपनी का सदस्य रहा है. 

टाटा की इस सफलता के बारे में हम सब जानते है. टाटा कंपनी के कर्मचारियों के बूते आज यह कंपनी आसमान छु रही हैं. टाटा स्टील भी एक कंपनी हैं जो की टाटा ग्रुप ऑफ़ कंपनी का ही एक हिस्सा हैं, यह पहले टिस्को के नाम से जानी जाती थी. आज के समय में टाटा कंपनी के अधीन वाली सभी कंपनियां कई अन्य क्षेत्रों में कार्य कर रही हैं. 

टाटा कंपनी का मालिक कौन हैं ? 

वर्तमान में भारत की सबसे बड़ी टाटा कंपनी के मालिक रतन टाटा जी ( Ratan Tata ) है। इस कंपनी की शुरुआत के कुछ समय बाद ही रतन टाटा जी (Ratan Tata) ने TATA Group’s को काफी अच्छे से संभाला हैं, रतन टाटा ने इस कंपनी को तब से TATA Group’s को बहुत ऊंचाइयों तक पहुंचाया जिस समय से Ratan Tata और इस कंपनी में  कई बड़े बड़े उतर चदाव आये हैं. 

आप शायद जानते होंगे की टाटा समूह में कई सारे उतार-चढ़ाव आए हैं और उन परिस्तिथियों को छोड़ रतन टाटा जी के नेतृत्व में टाटा समूह ने उन सभी बेकार परिस्थितियों को पार करते हुए इस टाटा ग्रुप ऑफ़ कंपनी को अपनी म्हणत से नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया। आपने सुना होगा को देश में जब कोरोना का दौर चल रहा था उस समय टाटा समूह के वर्तमान मालिक रतन टाटा जी ने अपने देश को 1500 करोड़ रुपयों की सहायता की और उन पैसों को प्रधानमंत्री केयर फण्ड में जमा करवाया. 

देश में Ratan Tata की कंपनी ने देश में सबसे सस्ती कीमत की और सबसे अच्छी कार लाए हैं। इतना ही नही देश में सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री भी टाटा ग्रुप ऑफ़ कंपनी की ही हैं. 

टाटा कंपनी की शुरुआत

टाटा कंपनी की शुरुआत साल 1868 में जमशेद जी टाटा ने की थी. जमशेद जी रतन टाटा के ग्रेट ग्रैंड फादर हैं.

टाटा कंपनी का संक्षिप्त में इतिहास

देश में इस टाटा कंपनी की शुरुआत सबसे पहले जमशेद जी टाटा ने की थी। जमशेद जी का जन्म 3 मार्च 1839 को भारत के एक भारतीय पारसी परिवार में हुआ था। 1858 में जमशेद जी ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद पूरी करने के बाद वे अपने पिता के घरेलु व्यवसाय को संभालने का कार्य शुरू कर दिया. वह कंपनी साल 1868 में जमशेद जी ने 21000 रुपये में पूर्व में दिवालिया हो चुकी एक तेल मिल खरीद कर उसमें रुई का कारखाने से शुरू किया।

इसकी शुरुआत के बाद जमशेद जी ने अपने व्यवसाय में 4 चीजों को मुख्य रूप से शुरू करने की ठानी. उन चार चीजों में पहला तो लौह और स्टील कंपनी खोलना था ,उसके बाद उसमे दूसरा भारत में एक वर्ल्ड क्लास इंस्टीटूशन स्थापित करना था जिसे विश्व ख्याति दी जा सके ,उसके बाद तीसरी सोच में एक होटल खोलना और उसके साथ चौथा एक हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्लांट भारत मे स्थापित करना। लेकिन जमशेद जी अपने उन चार लक्ष्यों में से अपने जीवन में सिर्फ ताजमहल होटल का ही अपना सपना पूरा कर पाए। हालाँकि इसके बाद टाटा समूह की आने वाली पीढ़ियों ने उनके सभी लक्ष्य को पुरे किये, इनमे रतन टाटा प्रमुख हैं।

टाटा कंपनी किस देश की कंपनी है ? 

वर्तमान में टाटा कंपनी एक भारतीय कंपनी है। इस टाटा ग्रुप का मुख्यालय भारत देश के सा[नो की नगरी मुंबई शहर मे है जो मुंबई शहर के रूप में जाना जाता है। TATA Group एक भारतीय कंपनी कहलाती है, तथा इस टाटा ग्रुप के संस्थापक Grandfather जमशेदजी टाटा है जिन्होंने  इस कंपनी की की स्थापना 1868 में की थी।

टाटा कंपनी की पुत्र कंपनिया

वर्तमान में टाटा केवल एक कंपनी नहीं है बल्कि यह कई कंपनियों का समूह हैं. एक समय था जब इस कंपनी के साथ 98 अलग – अलग कंपनियां जुड़ी थी, अब इस कंपनी के साथ कुल 28 कंपनियां पब्लिक सेक्टर में एक्टिव हैं. टाटा कंपनी विदेशों में भी एक्टिव हैं वर्तमान में यह कंपनी 40 से अधिक देशों में एक्टिव हैं. वर्तमान में टाटा की कंपनियों की सूची इस प्रकार हैं – 

1. Tata consultancy Service

2. TATA STEEL

3. TATA MOTORS

4. TATA CHEMICALS

5. TATA POWER

6. INDIAN HOTEL

7. TCS

8. TITAN

9. VOLTAS

10. TATA SONS….etc

यह साड़ी कम्पनिया अलग अलग क्षेत्रो में अपने अपने काम के लिए विख्यात हैं. टाटा वर्तमान में शेयर बाज़ार में भी काफी धुम मचा रही है. इन सभी कंपनी में टाटा मोटर्स भी मुख्य हैं. 

टाटा कंपनी की कमाई कितनी है?

अगर टाटा कंपनी में काम कर रहे कर्मचारियों की बात करें तो उन सब के महीने की वेतन ₹15350 से बढ़ोतरी होते हुए 12.9 फीसदी तक का बोनस के साथ उन्हें मिलता है। अगर टाटा कंपनी की कुल संपत्ति की बात की जाए तो उसकी कुल संपत्ति US$52.8 billion से भी अत्यधिक है।

टाटा कंपनी का मुख्यालय

वर्तमान में टाटा कंपनी का मालिक रतन टाटा हैं और उनकी कंपनी का मुख्यालय वर्तमान में मुंबई में स्थित है. सपनो की नगरी मुंबई से टाटा ग्रुप ऑफ़ कंपनी अलग अलग व्यवसायों में निवेश कर रही हैं. टाटा कंपनी ने वर्तमान में कई सारे ऑनलाइन बिज़नेस में निवेश किया जैसे – OLA Cab, Paytm, Lenskart.com, Bluestone.com, Firstcry, Snapdeal, Zivame, Cardekho, Urban ladder, Cash Karo etc. इस सारी कंपनियों में भी टाटा कंपनी का हिस्सा हैं. 

टाटा कंपनी का सबसे पुराना बिज़नस

टाटा कंपनी ने शुरुआत में होटल व्यवसाय में निवेश करना चालू किया था, इसके बाद उन्होंने कपड़ा और मिल में निवेश करना चालू किया. वर्तमान में व्यवसाय पर लगभग टाटा का अधिकार हैं तो कम नहीं होगा. टाटा कंपनी ने वर्तमान में कई कंपनी में निवेश किया हैं जिसके बाद उनके कई सारे अलग अलग व्यवसाय हो गये हैं. वर्तमान में टाटा का सबसे पुराने व्यवसाय देखे तो इसका सबसे पुराना व्यवसाय होटल और कपड़ो का हैं. 

टाटा कंपनी के वर्तमान चेयरमैन 

वर्तमान में इस कंपनी चेयरमैन की बात करे तो इस कंपनी का वर्तमान चेयरमैन नटराजन चंद्रशेखर हैं. नटराजन चंद्रशेखर 2017 से कंपनी के साथ जुड़े हुए हैं. 

रतन टाटा की दरियादिली

देश में जब कोरोना का खतरनाक दौर चल रहा था उस समय टाटा समूह के वर्तमान मालिक रतन टाटा जी ने अपने देश को 1500 करोड़ रुपयों की सहायता की और उन पैसों को प्रधानमंत्री केयर फंड में जमा कराया.रतन टाटा के ऐसे करने से उनको काफी प्रसिद्धि मिली और जो लोग इनके बारे में जानते हैं थे वो भी इनके बारे में जानने लगे.

रतन टाटा ने अपने अपमान का बदला किया कुछ इस प्रकार

रतन टाटा के साथ अमेरिका में एक अपमान की घटना हुई, वजह की टाटा की कंपनी फोर्ड कंपनी हाथ मिलाने के लिए अमेरिका गई थी. वहा अपना अपमान होते देख रतन टाटा वापस india आ गये और यहां पर आने के बाद ऐसी कार बनाई जिसे देख फोर्ड के होश हुड गये. फोर्ड कंपनी को घाटा में जाते देख उसी कंपनी को खरीद लिए जिसने कभी टाटा का अपमान किया था.

निष्कर्ष

इस लेख में आपको टाटा कंपनी के टाटा कंपनी के मालिक के बारे में बताया गया हैं.उम्मीद करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा. 

FAQ

Q. टाटा कंपनी का मुख्यालय कहाँ है ? 

Ans. टाटा कंपनी का मुख्यालय बॉम्बे हाउस, मुंबई में हैं.

Q. टाटा कंपनी के वर्तमान चेयरमैन कौन हैं ? 

Ans. नटराजन चंद्रशेखर इस कंपनी के वर्तमान चेयरमैन हैं.

Q. टाटा कंपनी के मालिक कौन हैं ?


Ans, टाटा कंपनी का मालिक रतन टाटा हैं.

Q. टाटा कंपनी किस देश की कंपनी है  ?

Ans. टाटा कंपनी भारत की कंपनी है.

Q. टाटा कंपनी की स्थापना कब हुई ? 

Ans. 1868 में.

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a