सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बनें ?

इस पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको यह जानकारी देंगे कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बनें / how to become software engineer? आज हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में कंप्यूटर और इंटरनेट का ही बोल-बाला है और सारे काम धंधे अब कंप्यूटर और इंटरनेट की सहायता से ही किए जाते हैं।

तो अगर आपको भी कंप्यूटर और इंटरनेट में रुचि है और आप अपना कैरियर कंप्यूटर के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कंप्यूटर से रिलेटेड कोई कोर्स करना होगा। यहां हम आपको बता दें कि आज के अधिकतर युवा सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना अत्यधिक पसंद करते हैं I 

क्योंकि इस फील्ड में उन्हें नौकरी के लिए ना तो कोई समस्या होती है और उसके साथ-साथ उन्हें सैलरी भी अच्छी खासी मिल जाती है। इसीलिए आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार से एक सॉफ्ट इंजीनियर बन कर अपने भविष्य को सुनहरी बना सकते हैं इसलिए हमारे इस लेख को सारा पढ़ें।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बनें
सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बनें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या है (what is software engineer in Hindi)

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के नाम से तो आप भली-भांति परिचित होंगे लेकिन अगर आपको यह नहीं पता है कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर कौन होता है तो आपको बता दें कि कंप्यूटर और मोबाइल के लिए प्रोग्राम और एप्स बनाने का कार्य एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही करता है जिसे सॉफ्टवेयर डेवलपर के नाम से भी जाना जाता है। इसके साथ साथ सॉफ्टवेयर इंजीनियर किसी प्रोग्राम या फिर किसी ऐप में होने वाली हर तरह की खराबी हो को भी ठीक करने में सक्षम होता है। मोबाइल या कंप्यूटर के लिए ऐप या प्रोग्राम बनाना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि उसके लिए एक अलग तरह की भाषा का प्रयोग किया जाता है जिसको सिर्फ एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही समझ और जान सकता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्सेज  (software engineering courses)

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग से संबंधित बहुत सारे कोर्सेज हैं जिनमें से किसी एक कोर्स को आप अपनी रूचि के अनुसार अपने लिए चुन सकते हैं जैसे कि-

  • बीएससी इन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग (BSc in software engineering)
  • बीएससी- बैचलर ऑफ कंप्यूटर साइंस (BSc- Bachelor of Computer science)
  • बीएससी इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (BSc in information technology)
  • बीटेक इन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग (B tech in software engineering)
  • बीटेक इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (BTech in information technology)
  • बीटेक- बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी इन कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग (B tech – Bachelor of Technology in Computer science and Engineering)
  • बीसीए- बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA- Bachelor of Computer application)
  • पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कंप्यूटर साइंस (Polytechnic diploma Computer science)

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता /software engineer eligibility

अगर आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आप में निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए जैसे कि –

  • कैंडिडेट ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं क्लास पास की हो।
  • 12वीं क्लास में छात्र ने केमिस्ट्री, मैथ और फिजिक्स जैसे सब्जेक्ट पढ़े हो।
  • कैंडिडेट के 12वीं क्लास में 50% तक अंक होने जरूरी है।
  • कैंडिडेट को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान भी होना चाहिए।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए प्रवेश प्रक्रिया / admission process for software engineering course

यदि आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं और इसके लिए आप यह जानना चाहते हैं कि कोर्स को करने के लिए किसी अच्छे संस्थान में प्रवेश प्रक्रिया क्या है तो आपको बता दें कि इसके लिए बहुत सारी प्रवेश परीक्षाएं हैं जो हमारे देश में हर वर्ष सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए करवाईं जाती हैं जैसे कि–

  • जेईई मेन (JEE Mains
  • जेई एडवांस (JEE Advanced)
  •  एआईईई (AIEE)
  • बिटसेट (BITSET) इत्यादि।

भारत के टॉप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज (Top software engineering college in India)

जब आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स से संबंधित प्रवेश परीक्षा को पास कर लेंगे तो उसके बाद आपको भारत के किसी अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने का अवसर दिया जाएगा जैसे कि-

  • तिरुमला इंजीनियरिंग कॉलेज, हैदराबाद (Tirumala Engineering College, Hyderabad)
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, न्यू दिल्ली (Guru Govind Singh indraprastha University, New Delhi) 
  • मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मणिपाल (Manipal Institute of Technology, Manipal)
  • पीईएस यूनिवर्सिटी, बेंगलोर (PES University, Bangalore)
  • वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट मुंबई (Veermata jijabai technological Institute Mumbai)
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दुर्गापुर (National Institute of Technology Durgapur)
  • आरवी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, बेंगलोर (RV College of Engineering Bangalore)
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी रांची (Birla Institute of Technology Ranchi)
  • श्याम इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, राजस्थान (Shyam Institute of Engineering and Technology Rajasthan)
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इलाहाबाद (Indian Institute of Information Technology Allahabad)

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स फीस / software engineering course fees

यहां बता दें सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आप जब किसी संस्थान से कोर्स को करेंगे तो उसके लिए आपको कितनी फीस देनी पड़ेगी। लेकिन यहां आपको सबसे पहले हम यही कहेंगे कि किसी भी इंस्टीट्यूट की या कॉलेज की फीस इस बात के ऊपर सबसे अधिक डिपेंड करती है कॉलेज की रेपुटेशन और प्लेसमेंट रिकॉर्ड कैसा है। हालांकि सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए तकरीबन 2 लाख रुपए से 10 लाख रुपए तक की फीस देनी पड़ सकती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के बाद नौकरी के अवसर / software engineer jobs

जब आप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा कर लेंगे तो फिर उसके बाद आपको प्राइवेट सेक्टर के साथ-साथ सरकारी सेक्टर में भी जॉब करने के बहुत सारे अवसर प्राप्त होंगे क्योंकि आज के समय में कंप्यूटर व टेक्नोलॉजी का काफी अधिक विकास हो गया है। यहां हम आपको जानकारी दे रहे हैं कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद आपको कौन-कौन सी जॉब मिल जाएगी उनके नाम इस तरह से हैं-

  • सॉफ्टवेयर डिजाइनर
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • प्रोग्रामर
  • प्रोजेक्ट मैनेजर
  • एप डेवलपर

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के काम / Software engineer works

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में एक कैंडिडेट को बहुत सारे कार्य करने होते हैं जैसे कि –

  • सॉफ्टवेयर में खराबी होने पर उन्हें ठीक करने का कार्य।
  • आवश्यकतानुसार सॉफ्टवेयर बनाना।
  • सॉफ्टवेयर में से बग्स (Bugs) ढूंढना और फिर उसको सही करके सॉफ्टवेयर की परफॉर्मेंस में सुधार करना।
  • सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग का कार्य और जो भी समस्या हो उसे ठीक करना।
  • सॉफ्टवेयर के प्रोग्राम को अपडेट करना।
  • कई प्रकार के प्रोजेक्ट्स पर कंप्यूटर स्पेशलिस्ट के साथ कार्य करना।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का वेतन /software engineer salary

सॉफ्टवेयर इंजीनियर को नौकरी के शुरू में ही 15 हजार रुपए से 20 हजार रुपए तक की सैलरी मिल जाती है जो कि कैंडिडेट के अनुभव और काम करने के तरीके पर सबसे ज्यादा निर्भर करती है। यदि कैंडिडेट अपने काम को बहुत कुशलतापूर्वक करता है तो वह और भी ज्यादा वेतन हर महीने पा सकता है। आज के समय में ऐसे बहुत सारे सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी हैं जो विदेशों में नौकरियां करके काफी अच्छी कमाई कर रहे हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों यह था आज का पोस्ट जिसके हमने आपको यह बताया कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बनें / how to become software engineer? इस लेख में हमने आपको वह सभी आवश्यक जानकारी दे दी हैं जो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपके लिए जानना जरूरी है जैसे कि –

  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या होता है
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स लिस्ट
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया
  • भारत के टॉप सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स फीस
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के बाद नौकरी के अवसर
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर के कार्य
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर वेतन

FAQ

Q: सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या करना चाहिए

Ans: सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए इससे संबंधित कोर्स करना पड़ता है जिसके लिए कैंडिडेट को सबसे पहले एंट्रेंस एग्जाम को पास करना होता है। ‌एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद उम्मीदवार को सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए कॉलेज में दाखिला मिल जाता है। इस प्रकार अपना कोर्स पूरा करने के बाद कैंडिडेट सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन जाता है।

Q: सॉफ्टवेयर इंजीनियर के अंदर कौन-कौन से स्किल होने चाहिए

Ans: एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के अंदर बहुत सारे स्किल होने चाहिए क्योंकि उसका काम विभिन्न प्रकार के ऐप्स को और प्रोग्रामिंग बनाने का होता है। इसलिए एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के जानकारी बहुत अच्छी तरह से होनी चाहिए और इसके अलावा गणित बहुत ज्यादा स्ट्रांग होना चाहिए। इसके साथ-साथ एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर में कोडिंग की अच्छी समझ होनी चाहिए, क्रिएटिव होना चाहिए और उसे हमेशा नई टेक्नोलॉजी के बारे में खुद को अपडेट रखना होता है।

Q: क्या सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा को पास करना जरूरी है?

Ans: अगर आप यह चाहते हैं कि आपका किसी अच्छे और टॉप कॉलेज में दाखिला हो जाए तो तब आपको प्रवेश परीक्षा को पास करना बहुत ज्यादा जरूरी होगा लेकिन अगर कोई कैंडिडेट एंट्रेंस एग्जाम में पास नहीं हो पाता है तो तब वह किसी प्राइवेट कॉलेज से भी अपना कोर्स कर सकता है।

Q: क्या एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को सरकारी नौकरी मिल सकती है?

Ans: जिस तरह से सॉफ्टवेयर इंजीनियर को प्राइवेट नौकरी मिल जाती है उसी तरह से सरकारी क्षेत्रों में भी नौकरी हासिल की जा सकती है। इसके लिए हमारे देश भारत में सेंटर ऑफ डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कंप्यूटिंग, एजुकेशन एंड रिसर्च सेंटर और नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर मौजूद है जहां पर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को जॉब मिल सकती है।

Q: सॉफ्टवेयर इंजीनियर को क्या विदेशों में नौकरी मिल सकती हैं?

Ans: एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर में यदि योग्यता है तो वह उसके आधार पर विदेशों में नौकरी करने के बहुत सारे अवसर पा सकता है और यहां आपको बता दें कि जब कोई कैंडिडेट फौरेन कंट्री में नौकरी करता है तो तब उसे बहुत ज्यादा आकर्षक वेतन भी साथ में मिलता है।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment