Ford Company का मालिक कौन है ?

आपने अपने आसपास कई तरह की गाडिया देखी होगी व आपने कई तरह की गाड़ियों के बारे मे सुना भी होगा। गाड़ियों की बेहतरीन क्वालिटी की बात करे तो उनमे कई गाड़ियों की कंपनियां शामिल है जो अपनी तरफ से अच्छी से अच्छी व अल्ट्रा मॉर्डन गाडी बनाते है। आपने कई गाड़ियों का नाम सूना होगा जैसे फरारी, टाटा, टायटो इत्यादि पर क्या आपने फोर्ड नाम की किसी कंपनी के बारे मे सूना है ?

अगर नही सूना है तो आपको हम इस लेख मे इसी के बारे मे बता रहे है। इस लेख मे माध्यम से हम आपको फोर्ड कंपनी के बारे मे ही बता रहे है। अतः आप Ford Company का मालिक कौन है ? इस लेख को अंत तक पढे ताकि आपको इसके बारे मे पूरी जानकारी मिल सके।

Ford Company का मालिक कौन है
Ford Company का मालिक कौन है

फोर्ड कंपनी क्या है ?

अगर इस फोर्ड मोटर कंपनी की बात करे तो यह एक अमरीकन बहुराष्ट्रीय कंपनी है, जो अमेरिका मे मिकिगन के डियरबॉर्न नामक जगह पर स्थित है। इस कंपनी को अघिक मात्रा मे उत्पादन के लिए भी जाना जाता है। यह कम्पनी काफी पूरानी है यानी इस कम्पनी का इतिहास काफी पूराना है। इस कम्पनी ने पहली बार असेम्बली लाइन का आविष्कार नहीं किया था, परंतु आपको बता दे की यह फोर्ड दूनिया की पहली कंपनी थी जिसने सर्वप्रथम ऑटोमोबाइल का निर्माण व उसके विकास के संबधित कार्य किया था और उस समय मध्यम वर्ग के लोग भी इस प्रकार की कारें खरीदने मे सक्षम थे। 

इस कम्पनी की शुरूआत 21वीं सदी के शुरूआत से पहले की थी और 21 वी सदी के आसपास यह कम्पनी उस समय में वित्तीय संकट के काफी पास पहुच गई थी, उस समय यह कंपनी दिवालिया होने की कगार पर पहूच चुकी थी परन्तु उसके बाद इस कम्पनी ने अपने वितीय सकंट को दूर कर 21 सदी मे वर्तमान तक यक कम्पनी वापस अच्छी स्थिति मे आ गई। यह फोर्ड कंपनी अमेरिका की दुसरी- सबसे बड़ी कार निर्माण करने वाली कंपनी है वही अगर बात करे पहले नंबर की तो इस नंबर पर पर जनरल मोटर्स है वो भी अमेरिका की ही कंपनी है।

फोर्ड कम्पनी का मालिक कौन है ?

अगर फोर्ड कंपनी के मालिक की बात करे तो इस कंपनी के मालिक का नाम हेनरी फोर्ड है। वह अमेरिका के एक व्यवसायी व उद्यमी है। भारत मे उनका नाम अंबरीश दास है। हेनरी फोर्ड ने साल मे 1975 मे हिंदू धर्म को अपना लिया था और उस समय उन्होंने अपना नाम भी बदल दिया था। 1902 का वह साल था जब अमेरिका के हेनरी फोर्ड का कार कंपनी में अपना पहला प्रयास 22 अगस्त 1902 को किया था। 

उन्होंने अपने नाम से ही इस कंपनी की शुरुआत की थी। जो आगे चलकर एक कार कम्पनी के नाम से जानी गई। इस फोर्ड कम्पनी ने साल 1903 मे अपने 12 निवेशकों के साथ 28,000 अमेरिकन Dollar के साथ अपनी कंपनी की शुरुआत की और एक कारखाने का निर्माण किया । जब इस कम्पनी का निर्माण किया गया तो यह कंपनी अपने शुरुआती समय मे ऑटोमोबाइल के पार्ट्स भी बनाती बनाती थी उसके बाद उन्होंने अपने व्यवसाय मे बढ़ोतरी लाने के लिए कार बनाना आरंभ किया। 

कुछ समय बद मे इस कम्पनी ने अपना एक कारखाना मिकिगन, डेट्रॉयट में पिकेट एवेन्यू में स्थापित किया जहां शुरुआती समय मे केवल 2-3 सदस्यों की कार के निर्माण करते थे। उसके बाद समय के साथ और मांग के अनुसार उन्होंने इस कम्पनी के बढ़ोतरी की और कर्मचारियों की भी बढ़ोतरी कई गई। हेनरी ने जब इस कार की खोज की या यू कहे की इस कार का निर्माण किया तब उस समय उनकी उम्र 39 साल थी और वह उन्होंने अपने नाम पर की अपनी इस कंपनी का नाम रखा था जिसके बाद हम आज इस कम्पनी को फोर्ड मे नाम से जानते है। इस कम्पनी ने अपने सफर मे साल 1903 से 1908 के मध्य फोर्ड के मॉडल ए, बी, सी, एस, के, एन, आर और एस का निर्माण भी शुरू कर दिया था था। 

इस कम्पनी ने साल 1908 में भारी मात्रा में मॉडल टी का निर्माण काफी तेजी से किया था, जिसके बाद उस प्रोडक्ट को इस कम्पनी द्वारा लाखों इकाइयों में बेचा गया था। 1927 का वह साल था जब इस फोर्ड कम्पनी ने अपने कार के इस नये मॉडल टी को मॉडल ए से रिप्लेस कार दिया। यही इस कंपनी की पहली कार थी जिसमें इस कम्पनी द्वारा विंडशील्ड पर सेफ्टी ग्लास लगाया गया था। उसके बाद आपको बता दे की 1932 में इस कंपनी ने कम कीमत पर वी8 नामक एक इंजन द्वारा अपनी कारों को संचालित होने वाली कारों का निर्माण किया। 

अपना नजदीकी फोर्ड डीलर कैसे सर्च करें

अपने नजदीकी फोर्ड डीलर को खोजने के लिए आप इन आसान से प्रोसेस को फॉलो कर सकते है।

  • Step 1 – अपने नजदीकी डीलर को खोजने के लिए आपको सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। ( https://www.india.ford.com/
  • Step 2 – इस वेबसाइट पर आने के बाद आपको ऊपर की साइड मेन्यू बार में ऑप्शन दिखाई देगा ‘‘ Locate a dealer ’’ जिस पर आपको जाना होगा, उसके बाद एक नया पेज खुल जाएगा।
  • Step 3 – इस पेज पर आने के बाद आपको एक सर्च का ऑप्शन दिखाई देगा जिसके बाद आप उस सर्च बॉक्स से अपने नजदीकी डीलर के बारे मे सर्च कर सकते है।
  • Step 4 – इतना करने के बाद आपको आपके नजदीकी डीलर की पूरी लिस्ट दिखाई जाएगी।

21वीं सदी में फोर्ड मोटर कंपनी का सफर

2005 के साल से यह फोर्ड कंपनी और जनरल मोटर्स इंडिया का कारपोरेट बॉन्ड बडी मात्रा मे एक जंक स्थिति में पहुँच गया था। उसके बाद उस कम्पनी के उच्च स्वास्थ्य देखभाल की लागत, बढती गैसोलीन की कीमत, गिरती मार्केट शेयर, और चही इसकी एसयूवी की कम बिक्री पर निर्भरता के वजह से बड़ी वाहनों की बिक्री से इस कम्पनी को मिलने वाले लाभ काफी कम आ गई थी। 

उसके बाद आपको बता दे की 2005 साल के बाद, चेयरमैन बिल फोर्ड ने फोर्ड अमेरिकन डिवीजन के नवनियुक्त अध्यक्ष मार्क फिल्ड्स को कुछ बदलाव करने को कहा और वहां उनको एक ऐसी योजना बनाने के लिए कहा जिससे कंपनी फिर से लाभ प्राप्त करने मे सफल हो सके। 

उसके बाद इस कम्पनी के अध्यक्ष फिल्ड्स ने उस महत्वपूर्ण दिन 7 दिसंबर, 2005 को एक कम्पनी के बोर्ड की मीटिंग बुलाई और उन्होंने उस मीटिंग के दौरान “दि वे फॉरवार्ड” (बढ़ते कदम की ओर) नाम की योजना का वापस रिवीजन करने को कहा और उन्होंने ऐसा किया थी और उसके बाद 23 जनवरी, 2006 को सार्वजनिक तौर पर इस योजना का अनावरण किया।

“दि वे फॉरवार्ड” योजना के तहत इस फोर्ड कंपनी ने इस कम्पनी को बाजार की वास्तविकताओं से मेल के लिए, और साथ ही कंपनी का आकार बदला एवं इस कम्पनी ने उत्पादन लाइनों को मजबूत बनाने हेतू अपने पूर्व मे खूले 14 कारखानों को बंद कर दिया इसके साथ इस कम्पनी ने कुछ लाभहीन और अक्षम मॉडलों को बंद कर दिया और 30,000 तक की नौकरियों में भी कटौती की। इस कार निर्माता ने अपने बयान मे बताया कि 2006 का वह साल था जब इस कंपनी को अपने इतिहास में तकरीबन 12.7 बिलियन डॉलर का सबसे बड़ा नुकसान हुआ है और उन्होने यह भी बताया की यह कंपनी साल 2009 से पहले अपने लाभ को वापस नहीं आ पाएगी। 

हालांकि, इस फोर्ड कंपनी ने 2007 की दुसरी तिमाही में हि तकरीबन 750 मिलियन डॉलर तक का शुद्व लाभ प्राप्त करके दूनिया व बाजार को चैका दिया था बावजूद इसके  इस कंपनी को इस साल को 2.7 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ। 2012 के साल के बाद यह कम्पनी धीरे धीरे हानियों की तरह इस तरह गई की वापस उभर ही नही पाई। साल 2012 के अक्टूबर माह मे इस कम्पनी ने अपने शेष मोटर वाहन कंपोनेंट ऑपरेशन की बिक्री की घोषणा की।

निष्कर्ष

इस लेख मे आपको फोर्ड कंपनी के बारे मे बताया गया है और साथ ही इस लेख मे आपको इस कंपनी के इतिहास के बारे मे भी बताया गया है। इस कम्पनी के मालिकाना हक की बात करे तो उसके बारे मे भी इस लेख मे आपको बताया गया है। उम्मीद करते है आपको Ford Company का मालिक कौन है ? यह लेख पसंद आया होगा। 

FAQ

प्रश्न 1 – फोर्ड कंपनी का संस्थापक कौन है ?

उत्तर – अगर फोर्ड कंपनी के संस्थापक की बात करें तो इस कंपनी के मालिक का नाम हेनरी फोर्ड है। वह अमेरिका के एक व्यवसायी व उद्यमी है। भारत मे उनका नाम अंबरीश दास है।

प्रश्न 2 – फोर्ड कंपनी का वर्तमान मुख्यालय कहा है ?

उत्तर – अगर इस कंपनी के मुख्यालय के बारे मे बात करे तो इस कंपनी का मुख्यालय अमेरिका के डरबन मे स्थित है। 

प्रश्न 3 – फोर्ड कंपनी का वर्तमान रेवेन्यू कितना है ?

उत्तर – अगर इस कंपनी के वर्तमान रेवेन्यू की बात करें तो इस कंपनी का वर्तमान रेवेन्यू तकरीबन 127 अमेरिकी डॉलर है। 

प्रश्न 4 – फोर्ड कम्पनी का वर्तमान सीईओें कौन है ?

उत्तर – अगर वर्तमान मे इस कंपनी के सीईओ की बात करें तो इस कंपनी का सीईओ जीम फैरली है जो की अमेरिका के है।

प्रश्न 5 – फोर्ड का भारत मे मुख्यालय कहा स्थित है ?

उत्तर – इस कम्पनी के भारत मे मुख्यालयों की बात करें तो इस कम्पनी के भारत मे कई मुख्यालय है जैसे हरियाणा व चेन्नई मे है।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a