डीएलएड कोर्स क्या है DLED Course कैसे करें पूरी जानकारी?

इस पोस्ट के माध्यम से आज हम जानकारी देंगे डीएलएड कोर्स क्या है DLED Course कैसे करें पूरी जानकारी?, What is DLED Course, how to do DLED Course Complete Information in Hindi,DLED Course in Hindi full information? यदि आप एक ऐसे इंसान है जिसको छोटे-छोटे बच्चों को पढ़ाना बहुत ज्यादा पसंद है और उनके साथ खेलना एवं समय व्यतीत करना अच्छा लगता है तो आप डीएलएड कोर्स करके छोटे बच्चों को पढ़ा सकते हैं। इस फील्ड में कैंडिडेट को एक अच्छी नौकरी मिल जाती है और बच्चों के साथ टाइम गुजारने का मौका भी मिल जाता है। डीएलएड कोर्स करने के लिए यह जरूरी है कि आप इसके बारे में सारी जानकारी प्राप्त करें और फिर इसके पाठ्यक्रम में एडमिशन लेकर ट्रेनिंग लें। अगर आप डीएलएड के बारे में सारी जानकारी ढूंढ रहे हैं तो हमारे आज के इस पोस्ट को सारा जरूर पढ़ें और जानें कि किस तरह से आप टीचिंग लाइन में जा सकते हैं।

डीएलएड कोर्स क्या है DLED Course कैसे करें
डीएलएड कोर्स क्या है DLED Course कैसे करें

डीएलएड कोर्स क्या है (What is DLED Course in Hindi)

प्राइमरी स्कूल में जो छोटे बच्चे होते हैं उन्हें शिक्षा देने के लिए कैंडिडेट को जो कोर्स करवाया जाता है वह डीएलएड के नाम से जाना जाता है। इस टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम के अंतर्गत छोटे बच्चों को पढ़ाने से संबंधित जानकारी दी जाती है जिससे कि टीचर बच्चों को उत्कृष्ट शिक्षा देने के साथ-साथ उनमें नैतिक मूल्यों की शिक्षा भी दें। अगर कोई कैंडिडेट इस कोर्स उसको करना चाहता है तो उसे यह फोर्स 2 साल का करना होगा जिसके बाद वह प्राइमरी टीचर के रूप में काम कर सकता है।

यह भी पढ़ें –

डीएलएड कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (DLED Course Entrance Exam)

डीएलएड कोर्स एक ऐसा कोर्स है जिसको करने के लिए हर इंस्टिट्यूट या कॉलेज में अलग-अलग एडमिशन प्रोसेस होता है जैसे कि कुछ संस्थानों में एंट्रेंस टेस्ट पास करने के बाद ही कैंडिडेट को दाखिला मिलता है लेकिन कुछ ऐसे भी कॉलेज हैं जहां पर कैंडिडेट को मेरिट बेस पर दाखिला मिलता है। इसलिए सरकारी कॉलेज से डीएलईडी कोर्स करने के लिए यह बहुत जरूरी है कि एंट्रेंस टेस्ट को पास किया जाए।

डीएलएड कोर्स के लिए योग्यता (DLED Course Eligibility)

डीएलएड कोर्स के लिए निर्धारित योग्यता निम्नलिखित है-

  • उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से बारहवीं कक्षा पास हो।
  • छात्र ने 12वीं कक्षा में मिनिमम 50% मार्क्स प्राप्त किए हो।
  • विकलांग वर्ग और एससी, एसटी वर्ग से संबंध रखने वाले उम्मीदवार बच्चे को 5%-5% की छूट दी गई है।
  • कैंडिडेट की मिनिमम आयु 18 वर्ष एवं मैक्सिमम आयु 35 वर्ष होनी अनिवार्य है।

डीएलईडी कोर्स की फीस (DLED Course Fees)

डीएलएडी कोर्स बहुत ही प्रचलित कोर्स है जो कि प्राइवेट और सरकारी दोनों संस्थानों में करवाया जाता है। इसलिए इस कोर्स की फीस अलग-अलग होती है जैसे कि अगर कैंडिडेट किसी सरकारी कॉलेज से कोर्स करेगा तो तब उसे प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले में कम फीस देनी होगी। वैसे डीएलएडी की एवरेज फीस 10 हजार रुपए से लेकर 40 हजार रुपए तक हो सकती है जो कि पूरी तरह से इंस्टीट्यूट के ऊपर निर्भर करेगी।

यह भी पढ़ें –

भारत में डीएलएड कोर्स के लिए कॉलेज (DLED Course Colleges in India)

  • आरकेडीएफ यूनिवर्सिटी भोपाल (RKDF University Bhopal)
  • अमर भारतीय महाविद्यालय ग्वालियर (Amar bhartiya mahavidyalaya Gwalior)
  • एचजीएम आजम कॉलेज ऑफ एजुकेशन पुणे (HGM Azam College of Education Pune)
  • पीआर ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूट ऑफ लखनऊ (PR group of Institute of Lucknow)
  • आई ई भोपाल (I E Bhopal)
  • एसजीटी यूनिवर्सिटी गुड़गांव (SGT University Gurgaon)
  • एमिटी यूनिवर्सिटी नोएडा (Amity University Noida)
  • जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी (Jaipur National University)
  • बुद्धा कॉलेज ऑफ एजुकेशन करनाल (Buddha College of Education Karnal)
  • यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई (University of Mumbai)

डीएलएड कोर्स सिलेबस (DLED Course Syllabus)

डीएलएड कोर्स के अंतर्गत कैंडिडेट को छोटे बच्चों के अनुसार ट्रेनिंग दी जाती है ताकि जब वह टीचर बनें तो उन्हें श्रेष्ठ तरीके से एजुकेशन दे सके जैसे कि –

फर्स्ट ईयर सिलेबस (First year syllabus)

  • चाइल्डहुड एंड द डेवलपमेंट ऑफ चिल्ड्रन (childhood and the development of children)
  • कंटेंपरेरी सोसायटी (contemporary society)
  • टुवर्ड्स अंडरस्टैंडिंग द सेल्फ (towards understanding the self)
  • पेडगोजी आफ इंग्लिश लैंग्वेज (pedagogy of English language)

सेकंड ईयर सिलेबस (Second year syllabus)

  • कॉग्निशन, सोशियो कल्चरल कॉन्टेक्स्ट (cognition, social cultural context)
  • गाइडेंस एंड काउंसलिंग (guidance and counselling)
  • लीडरशिप एंड चेंज (leadership and change)
  • पेडागोजी ऑफ एनवायरमेंटल स्टडीज (pedagogy of environmental studies)
  • स्कूल हेल्थ एंड एजुकेशन (school health and education)
  • फाइन आर्ट्स एंड एजुकेशन (fine arts and education)

डीएलएड कोर्स के बाद कैरियर (Career after DLED Course)

डीएलएड कोर्स करने के बाद कैंडिडेट को प्राइवेट और सरकारी स्कूलों में शिक्षक की नौकरी मिलती है जिससे कि वह प्राइमरी बच्चों को पढ़ा सकें। साथ ही साथ यह कैंडिडेट होम ट्यूटर, एजुकेशन कंसलटेंट, कंटेंट राइटर इत्यादि भी बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें –

डीएलएड कोर्स करने के बाद वेतन (Salary after DLED course)

जब कैंडिडेट अपना डीएलएड कोर्स पूरा कर लेता है तो उसके बाद उसका सैलरी पैकेज इस बात के ऊपर निर्धारित करता है कि उसे सरकारी स्कूल में नौकरी मिली है या फिर निजी स्कूल में। अगर कैंडिडेट को किसी प्राइवेट स्कूल में काम करने का अवसर मिलता है अगर वह स्कूल काफी नामी और बड़ा होता है तो तब उसका वेतनमान बहुत ज्यादा होता है। इसी प्रकार जब कैंडिडेट किसी सरकारी स्कूल में टीचर बनता है तो तब उसे हर महीने 20 या फिर 25 हजार रुपए मिलते हैं।

निष्कर्ष

इस पोस्ट के द्वारा हमने आपको बताया डीएलएड कोर्स क्या है DLED Course कैसे करें पूरी जानकारी?, What is DLED Course, how to do DLED Course Complete Information in Hindi,DLED Course in Hindi full information? इसके साथ-साथ सभी महत्वपूर्ण बातें बताएं जैसे कि-

  • डीएलएड कोर्स क्या है (what is DLED course in Hindi)
  • डीएलएड कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (DLED Course entrance exam)
  • डीएलएड कोर्स के लिए योग्यता (DLED Course Eligibility)
  • भारत में डीएलएड कोर्स के लिए कॉलेज (DLED Course Colleges in India)
  • डीएलईडी कोर्स की फीस (DLED Course Fees)
  • डीएलएड कोर्स सिलेबस (DLED Course Syllabus)
  • डीएलएड कोर्स के बाद कैरियर (Career after DLED Course)
  • डीएलएड कोर्स करने के बाद वेतन (Salary after DLED course)

FAQ

Q: डीएलएड कोर्स कैसे करें?

Ans: डीएलएड कोर्स करने के लिए कैंडिडेट को सबसे पहले यह जानना होगा कि वह जिस कॉलेज से अपना कोर्स करने का इच्छुक है उस कॉलेज में एडमिशन की प्रक्रिया क्या है जैसे कि अगर वहां पर एंट्रेंस टेस्ट है तो उसे एंट्रेंस टेस्ट पास करना होगा। लेकिन अगर संस्थान में एंट्रेंस एग्जाम नहीं है तो तब कैंडिडेट को सीधे दाखिला मिल जाता है।

Q: डीएलएड कोर्स करने के बाद कहां नौकरी मिलती है?

Ans: इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट को किसी भी प्राइवेट या फिर सरकारी स्कूल में प्राइमरी स्कूल टीचर के रूप में नौकरी मिल जाती है जहां पर उसका काम छोटे बच्चों को पढ़ाने का होता है।

Q: डीएलएड कोर्स करने के लिए मिनिमम योग्यता क्या है?

Ans: यह कोर्स करने के लिए कैंडिडेट को कम से कम 12वीं कक्षा पास करनी जरूरी है और इसके अलावा डीएलएड कोर्स के लिए जो योग्यता है उसके बारे में सारी जानकारी जानने के लिए आप हमारा आर्टिकल पूरा पढ़ें।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment