DIC Full Form – डीआईसी का फुल फॉर्म क्या होता है?

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे DIC Full Form क्या है और इसका हिंदी में क्या मतलब होता है। यहां आपको बता दें कि हर व्यक्ति के शरीर में रक्त का काफी अधिक महत्व होता है और यह रक्त हमारे शरीर में नसों के माध्यम से फैला रहता है और आज का हमारा यह ले किसी से संबंधित है। अगर आपको DIC का पूरा नाम जानने के साथ-साथ इसके बारे में दूसरी अन्य आवश्यक बातों की जानकारी चाहिए तो हमारे इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ें क्योंकि आपको सारी जानकारी आज हमारे इस आर्टिकल में मिलने वाली है।

DIC Full Form - डीआईसी का फुल फॉर्म क्या होता है
DIC Full Form – डीआईसी का फुल फॉर्म क्या होता है

DIC Full Form- डीआईसी का फुल फॉर्म क्या होता है?

DIC का फुल फॉर्म डिस्मेनेटेड इंट्रावैस्कुलर कोएगुलेशन (Disseminated Intravascular Coagulation) होता है और इसका हिंदी में मतलब होता है शरीर की छोटी नसों में रक्त के छोटे-छोटे थक्कों का जमा होना। इस प्रकार व्यक्ति के शरीर में ब्लड वेसल ब्लॉक हो जाते हैं। यह एक गंभीर बीमारी होती है।

DIC क्या होता है?

जानकारी के लिए बता दें कि व्यक्ति के शरीर में जब खून के थक्के नसों में जमने लगते हैं तो उस दशा में वह DIC  जैसी समस्या से पीड़ित हो जाता है। ‌आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसके दो प्रकार होते हैं जिनमें से पहला है एक्यूट (Acute) यानी तेज गति से होने वाला और दूसरा क्रॉनिक (Chronic) यानी धीमी गति से होने वाला।

DIC  के लक्षण क्या है

  • व्यक्ति के सीने में दर्द होने लगता है।
  • इसके अलावा व्यक्ति के पैरों में दर्द होने लगता है।
  • पीड़ित व्यक्ति को सांस की तकलीफ होने लगती है और उसे बोलने में भी समस्या होती है।
  • अगर समस्या अधिक बढ़ जाए तो व्यक्ति का कोई अंग बेकार हो जाता है। 

DIC किन कारणों की वजह से होता है

  • महिलाओं में प्रेगनेंसी के समय होने वाली विभिन्न प्रकार की जटिलताएं।
  • ऐसा कैंसर जिसमें सॉलिड ट्यूमर और ब्लड कैंसर शामिल होता है।
  • किसी बहुत बड़ी और गहरी चोट लगने के कारण।
  • बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण।
  • एलर्जी होने के कारण।
  • किसी ज़हर की वजह से जैसे सांप का जहर।
  • महाधमनी के बढ़ जाने पर भी यह समस्या उत्पन्न हो सकती है।

DIC कैसे ठीक किया जा सकता है

अगर कोई व्यक्ति DIC जैसी समस्या से पीड़ित है तो वह इसके लिए किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर सारी समस्या को समझने के बाद पीड़ित व्यक्ति का उचित रूप से इलाज करते हैं। आपको यह भी बता दें कि डीआईसी की बीमारी में शरीर की नसों में खून के थक्के जमते हैं इसलिए डॉक्टर मरीज को एंटीकोगुलेंट्स जैसी दवाइयों के साथ-साथ ब्लड थिनर्स भी देते हैं जो कि उनके ब्लड को पतला करने का काम करते हैं। ‌

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको जानकारी दी DIC Full Form क्या होता है? और इसका हिंदी में पूरा मतलब भी हमने आपको बताया। इसके साथ-साथ हमने आपको यह जानकारी भी दी कि इस बीमारी का उपचार आप किस प्रकार से करवा सकते हैं और दूसरी अन्य आवश्यक बातें भी हमने आपको बताई। हमें पूरी उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई है सारी जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसको दूसरे लोगों के साथ भी शेयर करना बिल्कुल भी ना भूलें। ‌

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment