D Pharma कोर्स (D Pharma Course) क्या है कैसे करें?

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताएंगे D Pharma कोर्स (D Pharma Course) क्या है कैसे करें? (What is D pharma course, how to do D pharma Course Complete information in Hindi) डी फार्मा कोर्स में वही विद्यार्थी एडमिशन लेते हैं जो मेडिकल लाइन में अपना कैरियर बनाने के इच्छुक होते हैं।

लेकिन कुछ छात्रों को यह पता नहीं होता है वह किस तरह से इस इंडस्ट्री में जा सकते हैं। वैसे अगर देखा जाए तो आज के समय में डी फार्मा में काफी ज्यादा वृद्धि हो गई है जिसकी वजह से आज इस क्षेत्र में स्टूडेंट्स बारहवीं कक्षा के बाद कैरियर बनाना चाहते हैं। यदि आपको इससे संबंधित सारी जानकारी चाहिए तो हमारे इस पोस्ट को सारा जरूर पढ़ें और जानें कि किस तरह से आप इस क्षेत्र में जा सकते हैं।

D pharma Course क्या है कैसे करे
D pharma Course क्या है कैसे करे

डी फार्मा क्या होता है (what is D Pharma in Hindi)

यहां सबसे पहले जानकारी के लिए बता दें कि यह फार्मेसी  2 साल का प्रोफेशनल कोर्स है और इसका पूरा नाम डिप्लोमा इन फार्मेसी (Diploma in Pharmacy) है। इसमें विद्यार्थियों को मेडिसन के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है जैसे कि दवाइयों को बनाने की प्रक्रिया और उनकी मार्केटिंग करने का तरीका। इसके साथ-साथ यह भी शिक्षा दी जाती है कि दवाइयों को किस प्रकार से स्टोर किया जा सकता है और फार्मेसी से जुड़े हुए जो सॉफ्टवेयर होते हैं उनके बारे में भी बताया जाता है। इस प्रकार इस कोर्स में विद्यार्थी को मेडिसन बनाने से लेकर उनको बेचने तक की सारी जानकारी बताई जाती है।

यह भी पढ़ें –

डी फार्मा कोर्स प्रवेश प्रक्रिया (D Pharma Course Admission Process)

जो कैंडिडेट 12वीं कक्षा की पढ़ाई करने के बाद डी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं उन्हें इसके लिए सबसे पहले उन कॉलेजों के बारे में पता लगाना होगा जहां पर यह कोर्स करवाया जाता है। इसलिए छात्र की यही कोशिश होनी चाहिए कि वह किसी अच्छे और नामी कॉलेज से ही अपना पाठ्यक्रम पूरा करें जिसकी वजह से उसे सभी दवाइयों के बारे में ठीक प्रकार से जानकारी प्राप्त हो सके।

डी फार्मा कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (D Pharma Course Entrance Exam)

डी फार्मा कोर्स करने वाले विद्यार्थियों को जानकारी के लिए बता दें कि अगर वे यह चाहते हैं कि किसी गवर्मेंट कॉलेज से अपना कोर्स पूरा करें तो तब उन्हें प्रवेश परीक्षा में पास होना जरूरी होगा। इसके लिए देश भर में अनेकों प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करवाई जाती हैं जिनमें से किसी एक में सफलता हासिल करने वालों को किसी सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाता है –

  • जेईई फार्मेसी (JEE Pharmacy)
  • जीपीएटी (GPAT)
  • ऐयू ए आईएम ईई (AU AIMEE)
  • यू पीएसईई (UPSEE)

डी फार्मा कोर्स के लिए योग्यता (D Pharma Course Eligibility)

जो छात्र डी फार्मा कोर्स करने में रुचि रखते हैं उनमें जो योग्यताएं रखी गई हैं उनकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • विद्यार्थी ने कम से कम 12वीं कक्षा पास की हो।
  • छात्र के पास 12वीं में यदि साइंस सब्जेक्ट हो तो बहुत ही अच्छा रहता है उसे कोर्स करने में भी आसानी होगी।

डी फार्मा कोर्स की फीस (D Pharma Course Fees)

यहां आपको जानकारी दे दें कि जो छात्र डी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं उन्हें इसके लिए जो फीस देनी होगी वह इस बात के ऊपर डिपेंड करती है कि वह छात्र अपना कोर्स किसी गवर्मेंट कॉलेज से करना चाहता है या फिर किसी प्राइवेट कॉलेज से। इसके साथ-साथ आपको यहां यह भी बता दें कि सरकारी संस्थान से डी फार्मा कोर्स करने के लिए विद्यार्थी को लगभग हर साल 10 से लेकर 20 हजार रुपए तक की फीस देनी पड़ती है। साथ ही साथ यह भी जान लीजिए कि जो स्टूडेंट किसी प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करेंगे तो तब उनको फीस अधिक देनी होगी जो कि 50 हजार से लेकर एक लाख तक हो सकती है।

भारत में टॉप डी फार्मा कॉलेज (Top D Pharma Course College in India)

भारत में आज के समय में डी फार्मा कोर्स करने के लिए बहुत सारे कॉलेज है जहां पर छात्र एडमिशन लेकर अपना कोर्स कर सकते हैं जैसे कि-

  • बिहार कॉलेज ऑफ फार्मेसी पटना (Bihar College of pharmacy Patna)
  • राजगढ़ दनयनपीठ्स कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी पुणे (Rajgarh Danyanpeeth College of pharmacy Pune)
  • बीके मोदी गवर्नमेंट फार्मेसी कॉलेज सूरत (BK Modi government pharmacy College Surat)
  • दिल्ली फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च यूनिवर्सिटी दिल्ली (Delhi pharmaceutical science and research University Delhi)
  • जामिया हमदर्द इंस्टिट्यूट दिल्ली (Jamia Hamdard Institute Delhi)
  • निम्स यूनिवर्सिटी जयपुर (NIMS University Jaipur)
  • चित्रकारा यूनिवर्सिटी पटियाला (Chitrakara University Patiala)
  • बाबू बनारसी दास यूनिवर्सिटी लखनऊ (Babu banarasi Das University Lucknow)

डी फार्मा कोर्स सिलेबस (D Pharma Course Syllabus)

डी फार्मा कोर्स में जो स्टूडेंट दाखिला लेते हैं उन्हें इसके अंतर्गत दवाइयों से संबंधित सारी जानकारी प्रदान की जाती है जिसकी जानकारी निम्नलिखित है –

फर्स्ट ईयर सिलेबस (first year syllabus)

  • फार्मास्यूटिक्स-1 (Pharmaceutics-1)
  • फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री (pharmaceutical chemistry)
  • फर्माकॉग्नोसी (Pharmacognosy)
  • बायोकेमिस्ट्री क्लीनिकल पैथोलॉजी (Biochemistry clinical pathology)
  • ह्यूमन एनाटॉमी फिजियोलॉजी (human anatomy physiology)
  • हेल्थ एजुकेशन कम्युनिटी फार्मेसी (Health education community pharmacy)

सेकंड ईयर सिलेबस

  • फार्मास्यूटिक्स-2 (Pharmaceutics-2)
  • फार्मास्यूटिकल केमेस्ट्री-2 (Pharmaceutical chemistry-2)
  • फार्मोकोलॉजी टॉक्सिकोलॉजी (Pharmacology toxicology)
  • फार्मास्यूटिकल जूरिडिक्शन  (pharmaceutical jurisdiction)
  • ड्रग स्टोर बिजनेस मैनेजमेंट (Drug store business management)
  • हॉस्पिटल क्लिनिकल फार्मेसी (Hospital clinical pharmacy)

डी फार्मा कोर्स करने के बाद वेतन (salary after D Pharma course)

डी फार्मा कोर्स करने के बाद अगर कैंडिडेट को प्राइवेट हॉस्पिटल में नौकरी मिलती है तो तब उसको वहां पर हर महीने 15,000 से 20,000 रुपए तक का वेतन मिल जाता है। लेकिन अगर किसी कैंडिडेट को किसी सरकारी हॉस्पिटल में नौकरी मिल जाती है तो तब उसे वहां 20,000 से 30,000 तक का सैलरी पैकेज हर महीने मिल जाता है। इसके साथ-साथ यह भी बता दें कि कुछ वर्षों का अनुभव हासिल होने के बाद कैंडिडेट को और भी ज्यादा सैलरी मिल जाती है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट के द्वारा हमने आपको जानकारी दी किD Pharma कोर्स (D Pharma Course) क्या है कैसे करें? (What is D pharma course, how to do D pharma Course Complete information in Hindi) इससे जुड़ी हुई और भी सभी बातों की जानकारी दी जैसे कि –

  • डी फार्मा क्या होता है
  • डी फार्मा कोर्स प्रवेश प्रक्रिया
  • डी फार्मा कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा
  • डी फार्मा कोर्स के लिए योग्यता
  • डी फार्मा कोर्स की फीस
  • भारत में टॉप डी फार्मा कॉलेज
  • डी फार्मा कोर्स सिलेबस
  • डी फार्मा कोर्स करने के बाद वेतन

FAQ

Q: डी फार्मा क्या होता है?

Ans: डी फार्मा फार्मेसी का एक ऐसा कोर्स है जिसमें दवाइयों को बनाने के बारे में सारी जानकारी दी जाती है और यह भी बताया जाता है कि किसी दवाई को किस प्रकार से बेचा जा सकता है।

Q: क्या डी फार्मा कोर्स करने के बाद दुकान खोली जा सकती है?

Ans: जी हां डी फार्मा कोर्स करने के बाद अपनी दुकान खोली जा सकती है लेकिन उससे पहले कैंडिडेट को मेडिकल शॉप चालू करने के लिए एक लाइसेंस हासिल करना होगा।

Q: क्या डी फार्मा कोर्स करने के बाद सरकारी जॉब आसानी से मिल जाती है?

Ans: डी फार्मा कोर्स करने के बाद केवल उन्हीं उम्मीदवारों को सरकारी नौकरी मिल सकती है क्योंकि इसके लिए कैंडिडेट को गवर्नमेंट वैकेंसी निकलने पर आवेदन देना होगा और उसके बाद चयन परीक्षा भी पास करनी होगी।

Q: डी फार्मा कोर्स करने के क्या फायदे हैं?

Ans:डी फार्मा कोर्स करने के बहुत सारे फायदे हैं और सबसे बड़ा फायदा यह है कि कैंडीडेट 12वीं के बाद 2 साल का डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आसानी से नौकरी कर सकते हैं और यदि चाहें तो अपनी स्वयं की भी मेडिकल शॉप खोल सकते हैं।

Q: क्या डी फार्मा कोर्स करने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज आनी जरूरी है?

Ans: ऐसा बिल्कुल नहीं है कि डी फार्मा केवल इंग्लिश लैंग्वेज में ही होता है। बता दें कि इस कोर्स को करने के लिए हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन अगर कैंडिडेट को इंग्लिश की जानकारी होगी तो उसके लिए काफी बेहतर रहता है।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a