कस्टम ऑफिसर (Customs Officer) कैसे बनें?

आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि कस्टम ऑफिसर (Customs Officer) कैसे बनें? How to become custom Officer in Hindi? यहां सबसे पहले आपको यह बता दें कि कस्टम ऑफिसर सरकारी नौकरी के अंतर्गत आता है और हमारे देश के बहुत सारे युवाओं की तमन्ना होती है कि वह इस पद पर काम करें लेकिन सही गाइडेंस ना होने के कारण अकसर बहुत सारे उम्मीदवार इस पोस्ट पर नौकरी हासिल नहीं कर पाते हैं। परंतु अगर आप मेहनत और लगन के साथ इस पद पर जॉब हासिल करने की कोशिश करें तो आप अपने सपने को साकार कर सकते हैं। इसीलिए आपका सही मार्गदर्शन करने के लिए हम आज के इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि कस्टम ऑफिसर की पोस्ट पर आप किस प्रकार से जॉब प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए हमारे इस लेख को सारा पढ़े और यदि आपको कुछ समझ ना आए तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

कस्टम ऑफिसर (Customs Officer) कैसे बनें
कस्टम ऑफिसर (Customs Officer) कैसे बनें

कस्टम ऑफिसर क्या होता है (What is customs officer?)

तो दोस्तों सबसे पहले आपको बता दें कि कस्टम डिपार्टमेंट में काम करने वाले अधिकारी को कस्टम ऑफिसर कहते हैं। ‌ कस्टम ऑफिसर की मर्जी के बिना देश से कोई भी सामान बाहर नहीं जा सकता और ना ही कोई सामान देश के अंदर आ सकता है। जब भी देश में इंपोर्ट और एक्सपोर्ट होता है तो उसे सबसे पहले कस्टम अधिकारी चेक करता है जिसके अंतर्गत कस्टम ऑफिसर्स यह जांच करते हैं कि कोई भी अवैध वस्तु ना तो देश से बाहर जा सके और ना ही देश में आ सके। यहां बता दें कि कस्टम ऑफिसर का काम बहुत ज्यादा कठिन होता है जिसको करने के लिए उसे काफी अधिक मेहनत करनी होती है। बता दें कि किसी भी कस्टम ऑफिसर की ड्यूटी आमतौर पर एयरपोर्ट पर लगाई जाती है लेकिन इसके अलावा कस्टम ऑफिसर समुद्र के मार्ग से होने वाले सामान के आयात-निर्यात पर भी नजर रखते हैं।

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए अनिवार्य शिक्षा योग्यता/ Education Requirements

अगर आप कस्टम ऑफिसर के पद पर काम करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बता दें कि आप में निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए-

  • किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन किया हो।
  • ग्रेजुएशन में कैंडिडेट के मिनिमम 55% मार्क्स होने चाहिए।
  • कंप्यूटर के साथ-साथ इंटरनेट की भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए।

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए आवश्यक शारीरिक योग्यताएं / Physical Requirements

आयु सीमा (Age Limit)

  • मिनिमम आयु 21 साल और अधिकतम आयु 28 साल तक होनी चाहिए।
  • अगर उम्मीदवार आरक्षित श्रेणी से संबंध रखता होगा तो उसे आयु सीमा में छूट सरकारी नियमानुसार दी जाएगी।

पुरुष (Male)

  • पुरुष उम्मीदवारों की लंबाई लगभग 158 सेंटीमीटर होना अनिवार्य है।
  • कैंडिडेट का सीना 81 सेंटीमीटर तक होना आवश्यक है।

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए परीक्षाएं / Exam For Custom Officer post

अगर आपने यह निर्णय ले लिया है कि आप कस्टम ऑफिसर बन कर अपने देश की सेवा करेंगे तो यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कस्टम ऑफिसर की सरकारी नौकरी पाने के लिए आपको सबसे पहले यूनियन पब्लिक सिविल सर्विस यानी यूपीएससी के एग्जाम को पास करना होगा। परंतु यूपीएससी के एग्जाम में सफल होना बहुत ही कठिन है क्योंकि इस परीक्षा में उम्मीदवार को बहुत ही कठिन चयन प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ता है। ‌

सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट / Civil Service Aptitude Test-CSAT

अब आपको यह बता दें कि यूपीएससी के द्वारा आयोजित इस परीक्षा में आपको दो पेपर देने होते हैं जिसमें आप को ऑब्जेक्टिव टाइप के सवालों को हल करना होगा। इस परीक्षा के लिए आयोजित दोनों पेपरों के लिए 200-200 अंक रखे गए हैं और अगर आप इस परीक्षा में पास हो जाते हैं तो उसके बाद आपको दूसरे चरण की परीक्षा के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

सिविल सेवा मुख्य परीक्षा / Civil Service Main Exam

सीएसएटी में सफलता हासिल करने के बाद आपको फिर मेन परीक्षा में हिस्सा लेना होगा और यह एक बेहद मुश्किल एग्जाम होता है जिसमें आपको नौ पेपरों को हल करना होता है। यह सारे पेपर्स डिस्क्रिप्टिव टाइप के होते हैं जिनके द्वारा आपकी बौद्धिक क्षमताओं और ज्ञान का आंकलन किया जाता है। अगर आप इन सारे पेपरों में पास हो जाते हो तो फिर आपको पर्सनेलिटी टेस्ट के लिए आमंत्रित किया जाता है।

पर्सनैलिटी टेस्ट (Personality Test)

जब आप दोनों परीक्षाओं में पास हो जाएंगे तो फिर उसके बाद आपको पर्सनेलिटी टेस्ट के लिए आमंत्रित किया जाएगा जिसका मुख्य उद्देश्य आपकी बुद्धि, निर्णय लेने की क्षमता, गुणों और मूल्यों को परखना होता है। इसके लिए आपसे कई प्रकार के सवाल पूछे जाएंगे जिनका जवाब आपको बहुत सोच समझकर और शांति पूर्वक देना होगा। जब आप इसमें भी पास हो जाएंगे तो फिर आपको कस्टम ऑफिसर के पद पर नौकरी मिल जाएगी।

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए किताबें और अध्ययन सामग्री / Books and Study Material For Custom Officer

जैसा कि हमने ऊपर आपको जानकारी दी कि कस्टम ऑफिसर बनने के लिए आपको यूपीएससी के द्वारा कंडक्ट करवाई जाने वाली परीक्षा में शामिल होना होगा और अगर आप उस परीक्षा में पास हो जाते हैं तो तभी आप कस्टम ऑफिसर के पद पर नौकरी कर सकते हैं। लेकिन यूपीएससी की परीक्षा एक बहुत ही कठिन परीक्षा होती है जिसको पास करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी और परीक्षा की तैयारी के लिए कुछ किताबों की आवश्यकता भी होगी। इसीलिए हम निम्नलिखित कुछ किताबों के नाम आपको बता रहे हैं जिनकी सहायता से आप कस्टम ऑफिसर बनने के लिए यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं-

  • मॉडर्न अप्रोच टु वर्बल एंड नॉनवर्बल रीजनिंग बाय आर एस अग्रवाल (A modern approach to verbal and nonverbal reasoning by RS Aggarwal)
  • द मंत्रा ऑफ सीएसएटी पेपर-2 बाय गौतम पुरी (The Mantra of CSAT paper 2 by Gautam Puri)
  • एनालिटिकल रीजनिंग बाय एमके पांडे (Analytical reasoning by MK Pandey)
  • टीएमएच मैन्युअल पेपर-2 सीएसएटी बाय मैकग्रा हिल  (TMH manual paper 2 CSAT by McGraw Hill)
  • क्रैकिंग द सीएसएटी पेपर-2 बाय अरिहंत एक्सपर्ट्स (Cracking the CSAT paper 2 by Arihant experts)
  • न्यूज एंड करंट अफेयर्स फॉर जनरल नॉलेज (News and current affairs for general knowledge)
  • कुरूक्षेत्र मैगजीन एंड योजना मैगजीन (Kurukshetra magazine and Yojana magazine)

कस्टम ऑफिसर की ड्यूटी /  Duties of Custom Officer

एक कस्टम ऑफिसर की ड्यूटी के अंतर्गत बहुत सारे कार्य आते हैं जो उसे पूरी ईमानदारी के साथ ठीक प्रकार से करने होते हैं। निम्नलिखित हम आपको जानकारी दे रहे हैं कि एक कस्टम अधिकारी की ड्यूटी के तहत कौन-कौन से काम आते हैं-

  • अवैध वस्तुओं के आयात निर्यात पर रोक।
  • कस्टम ड्यूटी (टैक्स) को जमा करना।
  • एयरपोर्ट पर सभी वस्तुओं और लोगों की चेकिंग करना।
  • तस्करी किए जाने वाले माल पर पाबंदी लगाना।
  • यदि किसी यात्री के प्रतिबंधित या अवैध समान मिले तो उसके खिलाफ फौरन कार्यवाही करना।
  • जिस जगह पर कस्टम ऑफिसर की ड्यूटी होती है उस जगह पर उसको इस बात पर नजर रखना होता है कि वहां पर कोई अवैध वस्तु का आयात निर्यात तो नहीं किया जा रहा है।
  • प्रतिबंधित और अवैध सामान के इंपोर्ट एक्सपोर्ट पर रोक लगाना।

कस्टम ऑफिसर का वेतनमान / Customs Officer Salary

जब आप की नियुक्ति कस्टम ऑफिसर के पद पर हो जाएगी तो तब आपको शुरुआत में ही 25000 रुपए से लेकर 42,000 रुपए तक का वेतन मिलने के साथ-साथ कुछ दूसरे अन्य भत्ते भी दिए जाएंगे जैसे कि ट्रैवल एलाउंस, हाउस रेंट अलाउंस, हेल्थ इंश्योरेंस, हेल्थ इंश्योरेंस, डियरनेस अलाउंस आदि। इसके अलावा जब आपको एक्सपीरियंस हो जाएगा तो उसके बाद आपको और भी ज्यादा वेतन मिलेगा।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको जानकारी दी कि कस्टम ऑफिसर (Customs Officer) कैसे बनें? / How to become customs officer in Hindi? इस लेख में हमने आपको बताया कि कस्टम ऑफिसर बनने के लिए किसी भी कैंडिडेट में कितनी योग्यता होनी चाहिए और इसके साथ-साथ हमने यह भी बताया कि यूपीएससी के द्वारा कंडक्ट कराई जाने वाली परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए आपको कौन-कौन सी किताबों की आवश्यकता होगी।

साथ ही साथ इस लेख के द्वारा हमने आपको यह भी बताया कि कस्टम अधिकारी के कार्य क्या क्या होते हैं और उसको हर महीने कितना वेतनमान मिलता है। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल लाभदायी लगा हो तो इसे दूसरे लोगों के साथ भी जरूर शेयर करें ताकि उनका भी कस्टम ऑफिसर बनने का सपना पूरा हो सके।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment