CTET Full Form- सीटीइटी का फुल फॉर्म क्या होता है?

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे CTET Full Form  के बारे में सारी जानकारी। अगर आप CTET Full Form के बारे में नहीं जानते और इसका हिंदी में भी अर्थ जानना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें क्योंकि आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम इसके बारे में सारी जानकारी देने वाले हैं।

CTET Full Form
CTET Full Form

CTET Full Form- सीटीइटी का फुल फॉर्म क्या होता है?

CTET  का फुल फॉर्म  सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (Central Teacher Eligibility Test)  है और इसे हिंदी में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा कहते हैं। यहां जानकारी दे दें कि यह एक ऐसी परीक्षा है जिसको वही टीचर देते हैं जो किसी सरकारी स्कूल में अध्यापक बनना चाहते हैं।

CTET  क्या है ?

यह एक पात्रता परीक्षा है जो CBSE द्वारा आयोजित करवाई जाती है। बता दें कि इस परीक्षा में वह सभी उम्मीदवार भाग लेते हैं जो किसी सरकारी स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के इच्छुक होते हैं। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा को पास करने के बाद ही कोई अध्यापक इस काबिल बन सकता है कि वह स्कूल में बच्चों का शिक्षण कर सके।

CTET परीक्षा कब लागू की गई ?

यहां जानकारी के लिए बता दें कि यह परीक्षा साल 2011 में शुरू की गई थी। ऐसा इसलिए किया गया था ताकि योग्य अध्यापकों को बच्चों को पढ़ाने और उनका भविष्य निर्माण करने का अवसर दिया जा सके। इसलिए अब अगर कोई उम्मीदवार यह चाहता है कि वह किसी सरकारी स्कूल में टीचर बनकर बच्चों को शिक्षा दे तो उसे अपने इस सपने को पूरा करने के लिए CTET को पास करना होगा। इस तरह इस टेस्ट के माध्यम से टीचर की योग्यता को परखा जाता है और यह जांचा जाता है कि कोई भी टीचर मानसिक और शारीरिक रूप से बच्चों को शिक्षा देने में कितना सक्षम है।

CTET  का टेस्ट कब होता है ?

CTET  का टेस्ट हर साल 2 बार सीबीएसई द्वारा लिया जाता है। यह परीक्षा एक बार फरवरी में होती है और दूसरी बार सितंबर के महीने में होती है। यहां यह भी बता दें कि इस परीक्षा को पास करने के लिए कैंडिडेट को 60% तक अंक लाना बहुत अनिवार्य होता है।

CTET  परीक्षा में कितने पेपर होते हैं ?

इस परीक्षा में दो पेपर उम्मीदवार से लिए जाते हैं लेकिन यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जो उम्मीदवार पहला पेपर देते हैं और अगर वह उसमें पास जाते हैं तो वह कक्षा 1 से लेकर 5 तक के बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ा सकते हैं। इसी प्रकार दूसरा पेपर उन उम्मीदवारों के लिए होता है जो कक्षा 6 से लेकर 8 तक के बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं। यहां आपको यह भी बता दें कि सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट में उम्मीदवार के लिए अनिवार्य है कि उसके पास परीक्षा में बैठने लायक आवश्यक योग्यता होनी चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल जिसमें हमने आपको CTET Full Form के बारे में जानकारी दी और हमने आपको इससे संबंधित अन्य दूसरी जानकारियां भी बताई। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारा यह आर्टिकल आपके लिए बहुत अधिक लाभदायक रहा होगा इसलिए हमारा आपसे यह निवेदन है कि आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर भी शेयर अवश्य करें ताकि यह जानकारी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सके।

यह भी पढ़ें –

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment