बुक का आविष्कार किसने किया ?

हम रोजाना किताबों का उपयोग पढने के लिए लेते है। रोजाना आपने नई – नई किताबों के बारे मे देखा व सुना होगा। वैसे तो किताबों के कई उपयोग हमारे दैनिक जीवन मे है। किताबों की सहायता से आसानी से कई भी नया ज्ञान प्राप्त कर सकता है। वैसे तो किताबों का इतिहास प्राचीन काल से ही माना जाता है पर क्या आपको पता है की सर्वप्रथम किताबों का उपयोग कब व किसने किया था या सर्वप्रथम कौनसी किताब छपी थी? अगर आपको नही पता हो तो बुक का आविष्कार किसने किया ? और कब आप इस लेख को अंत तक पढे ताकि आपको इसके बारे मे जानकारी प्राप्त हो सके। 

बुक का आविष्कार किसने किया
बुक का आविष्कार किसने किया

किताब क्या है ?

वैसे तो किताबों के बारे मे आपको ज्यादा बताने की जरूरत नही है परन्तु फिर भी कुछ सामान्य जानकारी जो आपको किताबों के बारे मे जाननी चाहिए वह यह है की दो या उससे अधिक पृष्ठों वाली ही किताब कहलाती है। किताब का सामान्य उपयोग हम पढने के लिए करते है एवं इसमे भी आप अलग अलग तरह ही किताबों के बारे में पढते है जो की निम्नानुसार है। 

  • कानूनी किताबों का उपयोग करके हम कानून व सरकारी नियमों से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते है, इसके बाद लोगो की राह आसान हो जाती है यह समझने मे ही देश मे कौन कौन से कानून बने है एवं किस किस उपयोग हेतु कानून बने है। 
  • स्कूल कि किताबों का उपयोग करके एवं उन्हे पढ के हम स्कूल संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते है, स्कूलों मे जो किताबें हमे पढाई जाती है उनके इतिहास, कला, संस्कृति, भूगोल इत्यादि निम्न है। 
  • सामान्य ज्ञान से संबंधित किताबों को पढ के हम सामान्य ज्ञान की किताबों के बारे मे समझ सकते है एवं उनके बारे मे पढ सकते है। सामान्य ज्ञान मे रोजाना देश – विश्व की घटनाओं को दर्शाया जाता है। 

यह भी पढ़ें –आईफोन एप्पल का आविष्कार किसने किया था ? और कब

किताब का आविष्कार किसने किया ?

अब तो आप किताबों के बारे मे जान चुके है एवं वर्तमान मे आप कई तरह की किताबों को पढते है। अगर किताब के आविष्कार की बात करे तो आपको बता दे क सर्वप्रथम ‘‘भावों को पृष्ठों के माध्यम से अभिव्यक्त करने हेतु किताब का सर्वप्रथम आविष्कार जोहान्स गुटेनबर्ग’’ ने किया था। मूलतः जर्मनी के निवासी ‘‘जोहान्स गुटेनर्ब’’ ने दूनिया को पहली किताब के बारे मे बताया था। 

यह भी पढ़ें –

किताब के आविष्कारक जोहान्स गुटेनबर्ग के बारे मे सामान्य जानकारी

किताब के आविष्कारक के बारे मे बात करे तो यह मूलतः जर्मनी राष्ट्र के निवासी थे। इनका जन्म 1398 ई को यानी 14वी शताब्दी मे हुआ था। जोहान्स गुटेनबर्ग ने ही सर्वप्रथम टाइपिंग का आविष्कार किया था ऐसा माना जाता है एवं इसी टाइपिंग के साथ ही उन्होने किताब का आविष्कार किया था। गुटनबर्ग जनाब के टाइप-मुद्रण के आविष्कार से पूर्व छपाई का सारा कार्य पत्थरों व ब्लोको में अक्षरों को खोदकर किया जाता था। गूटेनबर्ग का जन्म जर्मनी देश के के मेंज नामक स्थान में हुआ था। 1420 ई. की बात है जब उनको वं उनके परिवार को जर्मनी देश मे कुछ राजनीतिक अशांति के कारण नगर छोड़ना पड़ा। उसके बाद उन्होंने 1439 ई. के आसपास स्ट्रासबोर्ग नामक कस्बे में अपने छपाई मशीन के आविष्करण का परीक्षण किया। इस परीक्षण मे उन्होने काठ के टुकड़ों पर उन्होंने अक्षरों को उल्टा खोदा, उसके बाद फिर उन्हें शब्द और शब्दों के भंडार का रूप देने के लिए छेद के माध्यम से परस्पर शब्दों को जोड़ा और इस प्रकार तैयार हुए बड़े ब्लाक/पत्थरों को काले द्रव में अच्छी तरह डुबाकर पार्चमेंट पर अधिकाधिक दाब दिया। इस प्रकार मुद्रण में सफलता प्राप्त की। बाद में उन्होंने इस विधि में कुछ सुधार किया। इस प्रकार इनकी पहली बार छापी गई पुस्तक ‘कांस्टेंन मिसल’ है जो 1450 ई. के आस पास छापी गई थी। उसकी वर्तमान मे केवल तीन प्रतियाँ उपलब्ध हैं। एक म्युनिख (जर्मनी) में, दूसरी ज्यूरिख (स्विटज़रलैंड) में और तीसरी न्यूयार्क में। इसके अतिरिक्त उन्होने एक बाइबिल भी गुटेनबर्ग ने मुद्रित की थी। प्रिटिंग मशीन का आविष्कार कर्ता भी इन्हे ही माना जाता है। 

बुक का आधुनिक इतिहास

सामान्यतः बुक का प्रथम आविष्कार 14वी शताब्दी मे हुआ था जिसके बाद किताबों का आविष्कार होता ही चला आ रहा है। किताबों के आविष्कार के बारे मे आधुनिक पहलू देखे तो आज के समय के किताबों का प्रचलन काफी तेजी से बढ गया है। अब 21 वी शताब्दी मे तो ई-बूक का प्रचलन भी काफी बढ गया है। अमेज़न व फिल्पकार्ट जैसी कई साइटों पर बूको को अब पढना व खरीदना काफी आसान हो गया है, जहा से आप Online किताबे पढ सकते है। अगर आप अलग – अलग बूक पढना चाहते है तो आप इस लिंक के जरिये बूक पढ सकते है। https://books.google.com/

बुकों के लाभ 

बुकों के कुछ लाभ निम्न है –

  • बुकों का सामान्य उपयोग पढने के लिए किया जाता है, बुकों के माध्यम से आप आसानी सें ज्ञान प्राप्त कर सकते है। 
  • सामान्य ज्ञान की किताबों से हमें रोजाना की खबरों के बारे मे पढ सकते है। 
  • आज का आधुनिक काल मे आप बूको को ओनलाईन भी पढ सकते है। 

बुको के प्रकार 

  • साइंस फिक्शन – विज्ञान से संबंधित बूक। 
  • मिस्ट्री – रहस्यों से भरी जानकारी की बुक। 
  • ड्रामा – ड्रामा व जानकारीयों से सम्बंधित बूक। 
  • एक्शन व एडवांस से सम्बंधित बूक 
  • रोमांस व प्यार भरी कहानियों की पुस्तकें। 
  • फनटेसी संबंधित बूक । 
  • सामान्य ज्ञान व खेल सम्बंधित बूक
  • स्कूल, काॅलेज संबंधित बूक

निष्कर्ष

बुक का आविष्कार को 14वी शताब्दी मे हो गया था तक से लेकर आज तक बुकों काफी प्रभाव है। वैसे तो किताबों के बारे मे आपको ज्यादा बताने की जरूरत नही है परन्तु फिर भी कुछ सामान्य जानकारी जो आपको किताबों के बारे मे जाननी चाहिए वह यह है की दो या उससे अधिक पृष्ठों वाली ही किताब कहलाती है। किताब का सामान्य उपयोग हम पढने के लिए करते है एवं इसमे भी आप अलग अलग तरह ही किताबों के बारे में पढते है जो की उक्तानुसार है। इस लेख मे आपको बूकों के प्रकार, बूकों के बारे मे, बूक के खोजकर्ता के बारे मे इत्यादि के बारे मे बताया गया है। इस लेख मे संपूर्ण जानकारी इंटरनेट से ली गई है, उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा। 

FAQ

प्रश्न 1 – बुक क्या होती है ?

उत्तर – वैसे तो किताबों के बारे मे आपको ज्यादा बताने की जरूरत नही है परन्तु फिर भी कुछ सामान्य जानकारी जो आपको किताबों के बारे मे जाननी चाहिए वह यह है की दो या उससे अधिक पृष्ठों वाली ही किताब कहलाती है।

प्रश्न 2 – बुक की खोज किसने की ?

उत्तर – किताब का सर्वप्रथम आविष्कार जोहान्स गुटेनबर्ग’’ ने किया था।

प्रश्न 3 – बुक के खोजकर्ता जोहान्स गुटेनबर्ग किस देश के निवासी थे ?

उत्तर – किताब का सर्वप्रथम आविष्कार जोहान्स गुटेनबर्ग’’ ने किया था। मूलतः जर्मनी के निवासी ‘‘जोहान्स गुटेनर्ब’’ ने दूनिया को पहली किताब के बारे मे बताया था। 

प्रश्न 4 – बुक के खोजकर्ता के बारे मे सामान्य परिचय ?

उत्तर – किताब के आविष्कारक के बारे मे बात करे तो यह मूलतः जर्मनी राष्ट्र के निवासी थे। इनका जन्म 1398 ई को यानी 14वी शताब्दी मे हुआ था। जोहान्स गुटेनबर्ग ने ही सर्वप्रथम टाइपिंग का आविष्कार किया था ऐसा माना जाता है एवं इसी टाइपिंग के साथ ही उन्होने किताब का आविष्कार किया था। गुटनबर्ग जनाब के टाइप-मुद्रण के आविष्कार से पूर्व छपाई का सारा कार्य पत्थरों व ब्लोको में अक्षरों को खोदकर किया जाता था।

प्रश्न 5 – सर्वप्रथम बुक का इस्तेमाल किस देश मे किया गया था ?

उत्तर – सर्वप्रथम बुक का इस्तेमाल जर्मनी देश मे किया गया था। 

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a