B Pharma कोर्स (B Pharma Course) क्या है कैसे करें ?

इस पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको बताएंगे B pharma कोर्स (B pharma Course) क्या है कैसे करें? (What is B pharma Course, how to do B pharma Course Complete Information in Hindi) आमतौर पर विद्यार्थी स्कूल के दौरान ही यह निर्णय ले लेते हैं कि उन्हें कौन सी फील्ड में अपना कैरियर बनाना है और इसीलिए छात्रों का आकर्षण मेडिकल लाइन में भी बहुत ज्यादा है जिसके अंतर्गत ही बी फार्मा कोर्स आता है।

वैसे स्टूडेंट्स इस कोर्स को करना तो चाहते हैं लेकिन उन्हें इसके बारे में सारी बातों के बारे में जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से एडमिशन के दौरान उन्हें काफ़ी समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है। अगर आप भी एक ऐसे विद्यार्थी हैं जो बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं तो सारी जानकारी हासिल करने के लिए हमारे आज के इस लेख को सारा जरूर पढ़ें और जानें कि आप किस प्रकार से इस कोर्स को कर सकते हैं।

B Pharma कोर्स (B Pharma Course) क्या है कैसे करें
B Pharma कोर्स (B Pharma Course) क्या है कैसे करें

बी फार्मा क्या है (what is B Pharma in Hindi)

यहां सबसे पहले जानकारी के लिए बता दें कि बी फार्मा का सीधा संबंध दवाइयों से है और इसका पूरा नाम बैचलर ऑफ फार्मेसी (Bachelor of Pharmacy) है। इस कोर्स को विद्यार्थी 12वीं क्लास पास करने के बाद करते हैं और यह एक 4 साल का ग्रेजुएशन प्रोग्राम कोर्स है। इस प्रकार छात्रों को फार्मेसी के क्षेत्र से जुड़ी हुई सारी जानकारी जैसे कि दवाइयों की टेस्टिंग, दवाइयां बनाना इत्यादि की जानकारी बी फार्मा के अंदर दी जाती है। जो कैंडिडेट इस 4 साल के डिग्री कोर्स को पूरा कर लेते हैं उनके सामने फार्मेसी में बेहतर भविष्य बनाने के मौके उपलब्ध हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें –

बी फार्मा करने के लिए योग्यता (B Pharma Eligibility)

इसके लिए कैंडिडेट में जो योग्यता होनी चाहिए उसकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • विद्यार्थी ने 12वीं कक्षा किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास की हो।
  • कैंडिडेट के पास 12वीं में साइंस विषय हो।

बी फार्मा करने के लिए प्रक्रिया (B Pharma course process)

जो छात्र विज्ञान विषय में 12वीं कक्षा पास कर लेते हैं उन्हें अगर बी फार्मा कोर्स करना है तो इसके लिए उन्हें सबसे पहले यह निर्णय लेना होगा कि वह किस कॉलेज में दाखिला लेना चाहते हैं क्योंकि हमारे देश में बहुत सारे कॉलेज ऐसे हैं जहां पर छात्रों को मेरिट के आधार पर एडमिशन दिया जाता है तो वही कुछ श्रेष्ठ कॉलेज ऐसे भी हैं जहां पर एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर दाखिला दिया जाता।

बी फार्मा करने के लिए प्रवेश परीक्षा (B Pharma entrance exam)

इस पाठ्यक्रम को अगर छात्र किसी सरकारी कॉलेज से करना चाहते हैं तो तब उन्हें इसके लिए एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेना पड़ेगा। वैसे पूरे भारत में बी फार्मा के लिए सबसे बड़ी परीक्षा बिटसेट (BITSAT) है जो अगर स्टूडेंट पास कर लेते हैं तो उन्हें अपने राज्य के फेमस कॉलेजों में दाखिला मिल जाता है। इसके अलावा भी बी फार्मा के लिए कुछ राज्यों में निम्नलिखित परीक्षाएं भी होती हैं-

  • झारखंड कंबाइंड (Jharkhand Combined)
  • टीएसएमसीईटी (TSMCET)
  • डब्लूबीजेईई (WBJEE)

भारत में बी फार्मा कॉलेज (B Pharma college in India)

हमारे देश भारत में ऐसे बहुत सारे कॉलेज हैं जहां से स्टूडेंट अपना बी फार्मा कोर्स कर सकते हैं यहां हम कुछ उत्कृष्ट बी फार्मा कॉलेजों के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिनके नाम इस प्रकार से हैं-

  • मद्रास मेडिकल कॉलेज चेन्नई (Madras Medical College Chennai)
  • मणिपाल कॉलेज आफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज (Manipal college of pharmaceutical sciences)
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी वाराणसी (Indian Institute of Technology Varanasi)
  • एएल- अमीन कॉलेज ऑफ फार्मेसी बेंगलोर (AL- Ameen College of Pharmacy Bangalore)
  • पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी पुणे (Poona College of Pharmacy Pune)
  • जेएसएस कॉलेज ऑफ फार्मेसी द नीलगिरीस तमिलनाडु (JSS College of pharmacy the neelgiris Tamil Nadu)
  • गोवा कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी गोवा (Goa College of Pharmacy Goa)
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी न्यू दिल्ली (Guru Govind Singh Indraprastha University New Delhi)
  • इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी मुंबई (Institute of chemical Technology Mumbai)
  • यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज चंडीगढ़ (University Institute of pharmaceutical Sciences Chandigarh)

बी फार्मा कोर्स की फीस (B Pharma course fees)

 जो कैंडिडेट बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं उन्हें यह भी जानकारी होनी चाहिए कि इस कोर्स के लिए उन्हें कितनी फीस का भुगतान करना पड़ सकता है। वैसे यहां बता दें कि इस कोर्स की फीस डिपेंड करती है कि छात्र प्राइवेट कॉलेज से अपना कोर्स कर रहा है या फिर वह किसी सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेने का इच्छुक है। हालांकि अगर एक अनुमान लगाएं तो किसी भी प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस लगभग 20 हजार से लेकर एक लाख 25 हजार रुपए हर साल की हो सकती है। लेकिन अगर कैंडिडेट का एडमिशन किसी सरकारी कॉलेज में हो जाता है तो तब उसे वहां पर प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले काफी कम फीस देनी पड़ती है।

बी फार्मा करने के बाद नौकरी (salary after B Pharma course

जो स्टूडेंट्स अपना बी फार्मा कोर्स पूरा कर लेते हैं उन्हें सरकारी क्षेत्र में नौकरी करने के अलावा प्राइवेट विभागों में भी नौकरी करने के मौके आराम से मिल जाते हैं। इस प्रकार से कैंडिडेट हॉस्पिटल्स या फिर सार्वजनिक दवा बनाने वाली कंपनियों में भी काम कर सकते हैं। इसके अलावा जब उसे थोड़ा सा अनुभव हो जाता है तो वह ड्रग इंस्पेक्टर के रूप में भी काम कर सकता है। इसी प्रकार उसके सामने बहुत सारे कैरियर ऑप्शन होते हैं जैसे कि टीचिंग, मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव, ड्रग मैन्युफैक्चरर, फार्मासिस्ट, क्लीनिकल रिसर्चर इत्यादि।

बी फार्मा करने के फायदे (B Pharma course benefits)

  • कैंडिडेट किसी भी केमिस्ट शॉप पर नौकरी कर सकते हैं।
  • अपना खुद का मेडिकल स्टोर भी खोला जा सकता है। 
  • किसी भी कॉलेज में एक फार्मासिस्ट के रूप में काम किया जा सकता है।
  • प्राइवेट और सरकारी विभागों के रिसर्च डिपार्टमेंट में काम कर सकते हैं।
  • इससे संबंधित क्षेत्रों में नौकरी आराम से मिल सकती है।

बी फार्मा कोर्स के बाद सैलरी (salary after B Pharma course)

जब विद्यार्थी अपना बी फार्मा कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद उन्हें नौकरी बिना किसी कठिनाई के मिल जाती है जहां पर शुरुआत में ही उनको हर महीने 25 हजार रुपए से लेकर 35 हजार रुपए तक का वेतनमान मिल जाता है और कुछ वर्षों का अनुभव हासिल करने के बाद कैंडिडेट की सैलरी ओर बढ़ जाती है। इसके अलावा अगर कोई कैंडिडेट अपना स्वयं का मेडिकल स्टोर ओपन कर लेता है तो तब हर महीने उसकी बहुत ही ज्यादा कमाई हो जाती है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट के द्वारा हमने आपको बताया कि B pharma कोर्स (B pharma Course) क्या है कैसे करें? (What is B pharma Course, how to do B pharma Course Complete Information in Hindi) इसके साथ-साथ सभी महत्वपूर्ण जानकारी भी दी जैसे कि –

  • बी फार्मा क्या है
  • बी फार्मा करने के लिए योग्यता
  • बी फार्मा करने के लिए प्रक्रिया
  • बी फार्मा करने के लिए प्रवेश परीक्षा
  • भारत में बी फार्मा कॉलेज
  • बी फार्मा कोर्स की फीस
  • बी फार्मा करने के फायदे
  • बी फार्मा कोर्स के बाद सैलरी

FAQ

Q: बी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम क्या बहुत मुश्किल होता है?

Ans: बी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम बहुत ज्यादा मुश्किल नहीं होता है और इसके साथ साथ इस फील्ड में कॉन्पिटिशन भी बहुत कम है जिसकी वजह से विद्यार्थियों के सफल होने के चांस अधिक होते हैं। इसलिए थोड़ी सी मेहनत करने के बाद छात्र इस एग्जाम में पास हो सकते हैं।

Q:बी फार्मा करने के बाद क्या करना चाहिए?

Ans: बी फार्मा करने के बाद अगर कैंडिडेट चाहे तो वह सरकारी या प्राइवेट डिपार्टमेंट में जॉब कर सकता है या फिर अगर वह चाहे तो एम फार्मा के लिए भी अपनी पढ़ाई आगे जारी रख सकता है।

Q: B Pharma के अंतर्गत छात्रों को क्या सिखाया जाता है?

Ans: इसके तहत छात्रों को दवाइयों से संबंधित सारी जानकारी सिखाई जाती है जिससे कि वह दवाई बनाने के साथ-साथ दवाई बेचने की कला से भी रूबरू हो जाते हैं।

Q: B Pharma कितने साल का कोर्स है?

Ans: यह 4 वर्षीय कोर्स है जिसमें एडमिशन लेने वाले विद्यार्थियों को संपूर्ण दवाइयों की मैन्युफैक्चरिंग के बारे में जानकारी देने के बारे में सब कुछ बताया जाता है जिससे कि वह छात्र दवाइयों के बारे में पूरी तरह से नॉलेज हासिल कर ले।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a