बीकॉम कोर्स क्या है? B.com course कैसे करें ? full information

इस पोस्ट के माध्यम से आज आपको जानकारी देगें कि बीकॉम कोर्स क्या है? B.com course कैसे करें ? full information?, What is a BCom course?,How to do a B.com course full information in Hindi,I B.Com course in Hindi full information? बीकॉम कोर्स वह छात्र करते हैं जो 12वीं कक्षा तक कॉमर्स विषय की पढ़ाई करते हैं। इस कोर्स में छात्रों को फाइनेंस के अलावा कॉमर्स के विषयों को पढ़ाया जाता है। अगर आपने भी अपनी 12 वीं क्लास कॉमर्स विषय में पास की है तो आपके लिए भी यह उत्कृष्ट रहेगा कि आप 3 साल के बीकॉम कोर्स में दाखिला ले लें लेकिन अगर आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो हमारा पोस्ट सारा जरूर पढ़ें और जानें कि आप किस प्रकार बीकॉम कोर्स कर सकते हैं।

बीकॉम कोर्स क्या है, B.com course कैसे करें
बीकॉम कोर्स क्या है, B.com course कैसे करें

बीकॉम कोर्स क्या है (What is B.Com Course)

यहां आपको बता दें कि बीकॉम कोर्स का पूरा नाम बैचलर ऑफ कॉमर्स (Bachelor of Commerce) है और यह एक डिग्री कोर्स है जो 3 साल की अवधि तक का होता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद छात्र को सरकारी विभागों के साथ-साथ निजी विभागों में भी नौकरी के अवसर मिल जाते हैं। हमारे देश भारत में लगातार प्रगति और उन्नति हो रही है जिसकी वजह से मौजूदा समय में जो छात्र बीकॉम कोर्स करते हैं उन्हें नौकरी के लिए बिल्कुल भी कठिनाई नहीं होती।

यह भी पढ़ें –

बीकॉम कोर्स के लिए योग्यता (B.Com Course Eligibility)

  • छात्र ने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा कॉमर्स विषय के साथ पास की हो।
  • 12वीं कक्षा में छात्र ने मिनिमम 50 परसेंट मार्क्स प्राप्त किए हो।
  • बीकॉम में एडमिशन लेने के लिए कट ऑफ मार्क्स (CutOff Marks) लाना अति आवश्यक है।

बीकॉम कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (B.Com Course Entrance Test)

जो छात्र बीकॉम कोर्स करने के इच्छुक हैं उन्हें इसके लिए हमारे देश में बहुत सारे कॉलेज हैं जिनमें एडमिशन लिया जा सकता है लेकिन कुछ कॉलेज ऐसे हैं जहां पर एंट्रेंस टेस्ट में शामिल होना पड़ता है तो वहीं कुछ ऐसे संस्थान हैं जहां पर बिना प्रवेश परीक्षा के भी दाखिला मिल जाता है। निम्नलिखित हम आपको बता रहे हैं बीकॉम के लिए जो एंट्रेंस टेस्ट हर साल कंडक्ट करवाए जाते हैं जैसे कि-

  • आईपीयू सीईटी (IPU CET)
  • डीयूईटी (DUET)
  • एनपीएटी (NPAT)
  • डीएसएटी (DSAT)

बीकॉम कोर्स प्रवेश प्रक्रिया (BCom Course Entrance Process)

बीकॉम कॉलेज में वही कैंडिडेट प्रवेश ले पाते हैं जो एंट्रेंस टेस्ट को क्लियर कर लेते हैं। इसलिए कैंडिडेट को चाहिए कि वह एंट्रेंस टेस्ट की तैयारी ठीक प्रकार से करें जिससे कि वह उसमें सफल हो जाएं। लेकिन अगर कैंडिडेट प्रवेश परीक्षा में पास नहीं हो पाते हैं तो तब वह किसी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं जहां पर बिना एंट्रेंस टेस्ट के एडमिशन मिल जाता है।

यह भी पढ़ें –रेडियोग्राफिक कोर्स क्या है RadioGraphic Course कैसे करें ?

भारत में बीकॉम कोर्स के लिए कॉलेज (Top BCom College in India)

  • पंजाब यूनिवर्सिटी (Punjab University)
  • हिंदू कॉलेज (Hindu College)
  • सेंट जेवियर कॉलेज (Saint Xavier College)
  • जैन यूनिवर्सिटी (Jain University)
  • श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (Shri Ram College of Commerce)
  • क्रिस्ट यूनिवर्सिटी (Christ university)
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (Banaras Hindu University)
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University)
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University)
  • जेएनयू (JNU)
  • जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia)

बीकॉम कोर्स सिलेबस (BCom Course Syllabus)

फर्स्ट सेमेस्टर सिलेबस-

  • फाइनेंसियल एकाउंटिंग
  • ऑर्गेनाइजेशन एंड मैनेजमेंट
  • एनवायरमेंटल स्टडीज
  • न्यू वेंचर प्लानिंग
  • प्रिंसिपल्स ऑफ माइक्रो इकोनॉमिक्स

सेकंड सेमेस्टर सिलेबस-

  • इंग्लिश/हिंदी/मॉडर्न
  • इंडियन लैंग्वेज
  • बिजनेस लॉज़
  • बिजनेस मैथमेटिक्स एंड स्टैटिसटिक्स
  • जनरल इलेक्ट्रिक कोर्स
  • इकोनॉमिक रेगुलेशन ऑफ डोमेस्टिक एंड फॉरेन एक्सचेंज मार्केट्स

थर्ड सेमेस्टर सिलेबस-

  • कंपनी लॉ
  • इनकम टैक्स लॉज
  • इंडियन इकोनामी एंड फाइनेंशियल मार्केट्स
  • बैंकिंग एंड इंश्योरेंस
  • फाइनेंशियल एनालिसिस एंड रिर्पोटिंग

फोर्थ सेमेस्टर सिलेबस-

  • इनडायरेक्ट टैक्स लॉज
  • कॉर्पोरेट एकाउंटिंग
  • ई-कॉमर्स
  • इन्वेस्टमेंट इन स्टॉक मार्केट
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • इंडस्ट्रियल लॉज़

फर्स्ट सेमेस्टर सिलेबस-

  • ऑडिटिंग एंड कॉर्पोरेट गवर्नेंस
  • कॉस्ट अकाउंटिंग
  • प्रिंसिपल ऑफ मार्केटिंग एंड ट्रेंनिंग एंड डेवलपमेंट
  • कंप्यूटर एप्लीकेशंस इन बिजनेस
  • एडवरटाइजमेंट

सिक्सथ सेमेस्टर सिलेबस-

  • फंडामेंटल एंड फाइनेंशियल मैनेजमेंट
  • बिजनेस कम्युनिकेशन
  • इंटरनेशनल बिजनेस
  • कंज्यूमर अफेयर्स एंड कस्टमर केयर
  • ऑर्गेनाइजेशनल बिहेवियर
  • एंटरप्रेन्योरशिप
  • ऑफिस मैनेजमेंट एंड सेक्रेटेरियल प्रैक्टिस
  • कॉरपोरेट टैक्स
  • प्लानिंग फंडामेंटल्स ऑफ इन्वेस्टमेंट
  • मैनेजमेंट अकाउंटिंग
  • सेल्समैनशिप
  • पर्सनल सेलिंग

बीकॉम कोर्स फीस (B.Com Course Fees)

बीकॉम कोर्स करने के लिए कैंडिडेट को जो फीस देनी होती है वह सबसे ज्यादा इस बात के ऊपर डिपेंड करती है कि छात्र ने अपना कोर्स करने के लिए कौन सी यूनिवर्सिटी या कॉलेज का चयन किया है क्योंकि अगर कोई काफी फेमस कॉलेज होगा तो वहां पर फीस भी अधिक देनी पड़ेगी। लेकिन बीकॉम कोर्स की फीस 10,000 से लेकर 80,000 रुपए तक के बीच में होती है लेकिन सही फीस की जानकारी उसी समय होगी जब कैंडिडेट अपने एडमिशन के लिए जाएगा।

बीकॉम कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएं (Career after BCom Course)

  • अकाउंटेंट
  • जूनियर अकाउंटेंट
  • अकाउंट मैनेजर
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर
  • कंसलटेंट
  • अकाउंट एग्जीक्यूटिव
  • बिजनेस कंसलटेंट

बीकॉम कोर्स के बाद वेतन (Salary after BCom Course)

जब छात्र अपना बीकॉम कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद वह विभिन्न सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में नौकरी के लिए आवेदन दे सकते हैं। इस प्रकार कैंडिडेट को फाइनेंस, एकाउंटिंग, बीमा, बैंकिंग, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट, रेलवे इत्यादि में नौकरी करने का मौका मिलता है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट के द्वारा हमने आपको बताया कि बीकॉम कोर्स क्या है? B.com course कैसे करें ? full information?, What is a BCom course?,How to do a B.com course full information in Hindi,I B.Com course in Hindi full information? इसके अलावा इससे जुड़ी हुई हमने सारी बातों की जानकारी दी जैसे कि –

  • बीकॉम कोर्स क्या है (what is BCom course)
  • बीकॉम कोर्स के लिए योग्यता (B.Com course eligibility)
  • बीकॉम कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा (B.Com course entrance test)
  • बीकॉम कोर्स प्रवेश प्रक्रिया (BCom course entrance process)
  • भारत में बीकॉम कोर्स के लिए कॉलेज (Top BCom college in India)
  • बीकॉम कोर्स सिलेबस (BCom course syllabus)
  • बीकॉम कोर्स फीस (B.Com course fees)
  • बीकॉम कोर्स के बाद कैरियर संभावनाएं (career after BCom course)
  • बीकॉम कोर्स के बाद वेतन (Salary after BCom course)

FAQ

Q: बीकॉम कोर्स कैसे करें?

Ans: बीकॉम कोर्स करने के लिए सबसे जरूरी है कि कैंडिडेट ने अपनी 12वीं कक्षा कॉमर्स विषय के साथ पास की हो उसके बाद फिर छात्र को अपना कोर्स करने के लिए कॉलेज का चुनाव करना होगा और यदि कॉलेज में एंट्रेंस परीक्षा के द्वारा दाखिला मिलता है तो छात्र को उस में भाग लेना होगा।

Q: बीकॉम कोर्स क्या प्राइवेट कॉलेज से भी किया जा सकता है?

Ans: अगर कोई के छात्र अपना कोर्स किसी प्राइवेट कॉलेज या यूनिवर्सिटी से करना चाहता है तो वह उस में दाखिला ले सकता है लेकिन इसके लिए उसे अधिक फीस देनी होगी।

Q: बीकॉम कोर्स की अवधि कितनी होती है?

Ans: बीकॉम कोर्स की अवधि 3 साल की होती है और जब छात्र यह कोर्स का पूरा कर लेता है तो तब उसे डिग्री मिल जाती है। जिसके बाद वह अगर नौकरी करना चाहें तो नौकरी कर सकता है और अगर एमकॉम में दाखिला लेना चाहें तो वह भी कर सकते हैं।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment