अमूल कंपनी का मालिक कौन है ? Owner of Amul Company

भारत के साथ साथ दूनिया मे भी अपना नाम कमाने वाली अमूल कम्पनी को आज कौन नही जानता। इस कम्पनी यह डेयरी के क्षेत्र मे सबसे पूरानी कम्पनी है। इस कम्पनी को आरम्भ करने वाले ने जो भी इस बात की उम्मीद नही की थी की इस कम्पनी की इतनी ग्रोथ हो जाएगी, जिस मुकाम पर आज यह कम्पनी है उस पीछे कई बडे संघर्ष है और कई अलग – अलग व्यक्तियों की मेहनत भी है। अगर आप भी जानना चाहते है की अमूल कम्पनी को किसने बनाया व इसके पीछे क्या कारण थे जिसकी वजह से यह कम्पनी अस्तित्व मे आई! तो अमूल कंपनी का मालिक कौन है ? आप इस लेख को अंत तक पढे ताकि आपको इसके बारे मे पूरी जानकारी मिल सके। 

अमूल कंपनी का मालिक कौन है ?
अमूल कंपनी का मालिक कौन है ?

अमूल कम्पनी

भारत मे दूध कम्पनी के मामले मे यह कम्पनी काफी ज्यादा फैमस है। यह कम्पनी अपने उत्तम प्रोडक्ट के लिए प्रसिद्घ है। अमूल मिल्क, दूध के अलावा और भी कई प्रोडक्ट बनाती है जो की काफी अच्छे व स्वादिष्ट होते है। अमूल भारत का एक दुग्ध सहकारी कम्पनी है जिसका मुख्यालय आणंद शहर, गुजरात राज्य में है। अमूल केवल एक दूध कम्पनी नही है यह एक ब्रान्ड नाम है जो गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन संघ लिमिटेड के नाम से चलता है। इस कम्पनी के केवल गुजरात राज्य मे लगभग 24 लाख अंश धारी है जो केवल इसी राज्य मे है। अमूल वर्तमान मे गुजरात राज्य के के आणंद शहर मे स्थित है। किसी दुध सहकारी समिति की बात करे तो यह काफी अच्छा है। भारत जैसे विकासशील देशा मे यह काफी महत्वपूर्ण है। अमूल के प्रमुख उत्पाद – दूध, दूध के पाउडर, मक्खन (बटर), घी, चीज, दही, चॉकलेट, श्रीखण्ड, आइस क्रीम, पनीर, गुलाब जामुन, न्यूट्रामूल इत्यादि प्रमुख है।

अमूल की स्थापना

गुजरात राज्य के अहमदाबाद शहर से लगभग 100 की मी की दूरी पर बसा एक छोटा शहर है जिसे आणंद के नाम से जाना जाता हैं। ‘आणंद’ को देश में दूध की राजधानी के नाम से जाना जाता है। अमूल जोकि देश की सबसे बड़ी व प्रसिद्ध डेयरी (दुग्धशाला) है उसका निर्माण 1946 में हुआ था। जब यह कंपनी बनी थी उस दौरान गुजरात मे केवल एक ही डेयरी पहले से थी, जिसे पोलसन डेयरी की नाम से जान जाता है, जिसकी स्थापना 1930 में हुई थी। उस समय पोलसन डेयरी उत्तम श्रेणी के लोगों के बीच बहुत प्रख्यात थी। लेकिन साथ ही ऐसा कहा जा रहा था कि वह देशी किसानों के शोषण के लिए भी जिम्मेदार थी। राष्ट्रीय नेता श्री सरदार पटेल ने कुछ उन किसानों के साथ इसके खिलाफ नॉन-कॉपरेशन आन्दोलन शुरु कर दिया था। इसके परिणामस्वरूप 14 दिसम्बर 1946 में अमूल इंडिया की स्थापना हुई। आरंभ मे यह अमूल कंपनी बगैर किसी पूर्व निश्चित वितरित नेटवर्को के, व केवल दूध एवं उसके अन्य कुछ उत्पादों का निर्माण व केवल उत्पादन किया करती थी। इसकी शुरुआत केवल दो संस्थानों और सिर्फ़ 247 लीटर दूध के साथ हुई थी।

अमूल कम्पनी के निर्माता

अमूल कम्पनी के निर्माता के रूप मे त्रिभुवनदास कृषि भाई पटेल को जाना जाता है जिन्होंने इस अमूल कम्पनी की स्थापना की थी। त्रिभुवनदास कृषि भाई पटेल का जन्म 1903 मे गुजरात मे हुआ था।

Verghese Kurien Amul
Verghese Kurien Amul

उन्होने की गुजरात राज्य से पूरे भारत मे श्वेत क्रांति की शुरूआत की थी जिसके बाद आज लगभग पूरे देश मे लगभग हर घर मे अमूल का दूध मंगाया व पिया जाता है। अमूल के निर्माता त्रिभुवनदास पटेल ने अपनी जीविका को चलाने का उपार्जन अपनी देश बंधु प्रिटिंग प्रेस से शुरू की, पटेल साहब ने अपना प्रारंभिक जीवन गाँधी जी तथा सरदार  वल्लभ भाई पटेल के साथ स्वतंत्रता आन्दोलनों में भाग लेने में बीता। त्रिभुवन पटेल स्वतंत्रता आंदोलन के दोहरान वर्ष 1930, 1935 तथा 1942 में पटेल तीन बार जेल गए। वह अपने जीवन काल मे गाँधीवादी होने के नाते काँग्रेस पार्टी से जुड़े हुए थे और वह दो बार 1967 से 1968 और 1968 से 1974 तक राज्य सभा निर्वाचित सदस्य भी रहे।

इस श्वेत क्रांति के मूल प्रोजेक्ट के अलावा उन्होंने काइरा जिले में सात सामुदायिक निवास के प्रोजेक्ट भी चलाए थे तथा उनसे सक्रियता से जुड़े रहे। त्रिभुवनदास कृषि भाई को दो खिताबों सामुदायिक नेतृत्व के लिए त्रिभुवनदास पटेल को 1963 में रेमन मैग्सेसे पुरस्कार मिला, 1964 में भारत सरकार द्वारा, पद्म भूषण से भी नवाजा गया है जो की काफी अच्छी पहचान है। त्रिभुवनदास कृषि भाई पटेल की 3 जून 1994 को दुखद मृत्यु हो गयी थी।

अमूल के अन्य प्रोडक्ट

अमूल जब शुरु हुआ था तो यह पहले दूध का प्रोडक्शन करती थी , बाद में समय के साथ इसमे बढ़ोतरी होती गई और आज की यह कई यह अलग अलग कई प्रोडक्ट का निर्माण करती है जिसकी लिस्ट इस प्रकार है।

Amul Company Product
Amul Company Product
  • अमूल दूध – यह प्रोडक्ट काफी अच्छा है जो कि पूरे देश मे काफी उपयोग किया जाता है।
  • ब्रेड स्प्रेड – अमूल अपने प्रोडक्ट में ब्रेड स्प्रेड भी बनाती है।
  • चीज़ – अमूल का चीज़ भी काफी प्रशिद्ध है जिसकी मांग काफी बढ़ती जा रही है।
  • बेवरेजेज 
  • आइसक्रीम – अमूल अपनी आईसक्रीम भी बनाती है।
  • पनीर – अमूल अपना पनीर भी बनाती है जो खाने में काफी स्वादिष्ठ होता है।
  • दही – अमूल दुवारा दही भी काफी अच्छा होता है।
  • घी – अमूल घी का भी प्रॉक्शन करती है।
  • मिल्क पाउडर – अमूल का मिल्क प्रोडक्ट भी काफी अच्छा होता है।
  • चॉकलेट्स – अमूल अपनी कंपनी में चॉकलेट का भी प्रोडक्शन करती है।
  • पाउच मिल्क ,
  • फ्रेश क्रीम और इत्यादि।

अमूल की Franchise कैसे ले

अगर आप भी अमूल के प्रोडक्टस के साथ अपना व्यवसाय करना चाहते है तो उसके लिए आप इसकी फ्रेंचाइजी भी ले सकते है। फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपको कुछ आसान से स्टेप्स फाॅलो करने होते है जो निम्न प्रकार है। 

  • Step 1 – सर्वप्रथम आपको अमूल की आधिकारिक वैबसाईट पर जाना होगा जहा से आप इसके लिए एप्पलाई कर सकते है। https://www.amul.com/m/amul-franchise-business-opportunity
  • Step 2 – इस पेज पर आने के बाद आपको Click to continue to web page का ओप्शन दिखाई देगा जिस पर आपको क्लिक करना होगा। 
  • Step 3 – इस ओप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको एक पेज दिखाई देगा जिसमे आपको अमूल फे्रंचाइजी की पूरी जानकारी बताई जाएगी जैसे आपको क्या क्या चाहिए, कितनी जमीन व राशि की आवश्यकता होती है इत्यादि। अगर आप अमूल की फ्रेंचाइजी के लिए और अधिक जानकारी लेना चाहते है तो इस नम्बर पर सम्पर्क कर सकते है। 02268526666 या आप इस ईमेल पर भी मैसेज भेज कर जानकारी प्राप्त कर सकते है। retail@amul.coop / distribution@amul.coop 

अमूल की फ्रेंचाइज़ी लेने के लिए आपको यह निर्धारित करना पड़ेगा कि आप की प्रकार की फ्रेंचाइज़ी लेना चाहते है, पहली अगर आप कोई डेयरी खोलना चाहते है किसी गांव या शहर में या फिर किसी रेलवे स्टेशन पर अमूल की शॉप लगाना चाहते है। इन दोनों में से आपको निर्धारित करना पड़ेगा कि आप किस तरह की फ्रेंचाइज़ी लेना चाहते है। अगर आपने फ्रेंचाइज़ी लेने का मन बना लिया है तो आपको इसके लिए कम से कम आपको दो लाख ( 2,00,000 ) रुपये निवेश करने की आवश्यकता होगी। 

अमूल फ्रेंचाइज़ी लेने के बाद आप आसानी से महीने का 40,000 से 50,000 कमा सेक्टर है जो कि आज के समय में आपको शुद्ध 20,000 – 25,000 का लाभ देगी। अगर आप स्टेशन पर दुकान के लिए फ्रेंचाइज़ी लेना चाहते है तो यह आपको कई ज्यादा कमाई दे सकती है। अगर स्टेशन अच्छा है यानी जहाँ ज्यादा ट्रैन रुकती है वहां आपको यह ज्यादा कमाई कम से कम 1,00,000 हर महीने दे सकती हैं।

निष्कर्ष

इस लेख मे आपको अमूल कंपनी के बारे में ओर इसके निर्माता के बारे में बताया गया है। भारत मे दूध कम्पनी के मामले मे यह कम्पनी काफी ज्यादा फैमस है। यह कम्पनी अपने उत्तम प्रोडक्ट के लिए प्रसिद्घ है। अमूल मिल्क, दूध के अलावा और भी कई प्रोडक्ट बनाती है जो की काफी अच्छे व स्वादिष्ट होते है। अमूल भारत का एक दुग्ध सहकारी कम्पनी है जिसका मुख्यालय आणंद शहर, गुजरात राज्य में है। अमूल केवल एक दूध कम्पनी नही है यह एक ब्रान्ड नाम है जो गुजरात सहकारी दुग्ध विपणन संघ लिमिटेड के नाम से चलता है। उम्मीद करते है अमूल कंपनी का मालिक कौन है आपको यह लेख पसन्द आया होगा।

Read More:

FAQ

प्रश्न 1 – अमूल की कंपनी की स्थापना किसने की ? 

उत्तर – अमूल कम्पनी के निर्माता के रूप मे त्रिभुवनदास कृषि भाई पटेल को जाना जाता है जिन्होंने इस अमूल कम्पनी की स्थापना की थी। त्रिभुवनदास कृषि भाई पटेल का जन्म 1903 मे गुजरात मे हुआ था।

प्रश्न 2 – क्या हर कोई अमूल की फ्रेंचाइज़ी ले सकता है ?

उत्तर – हा, अमूल की एजेंसी हर कोई ले सकता है जो कि काफी आसान है, इसका प्रोसेस ऊपर बताया गया है। इसमे आप दो तरह की फ्रेंचाइज़ी ले सकते है जिसके बारे में ऊपर बताया गया है।

प्रश्न 3 – अमूल का मुख्यालय कहा स्तिथ है ?

उत्तर – अमूल का मुख्यालय आनंद गुजरात मे स्तिथ है।

प्रश्न 4 – अमूल की स्थापना कब हुई ?

उत्तर – अमूल की स्थापना 1946 में गुजरात मे आनंद में हुई थी। इसको बनाने एक फायदा तो यह हुआ है कि इससे लोगो को अच्छी क्वालिटी का दूध और कई अन्य प्रोडक्ट्स मिलते है।

प्रश्न 5 – अमूल की कंपनी किस तरह की कंपनी है ? 

उत्तर – अमूल की कंपनी एक सहकारी समिति के तौर पर काम करती है जो कि एक प्राइवेट कंपनी के हिसाब से कार्य करती है।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a