बीपी मशीन का आविष्कार किसने किया ?

बीपी मशीन का आविष्कार किसने किया

दोस्तो हमारे शरीर को काम करने के लिए ऊर्जा की आश्यकता होती हैं ।  हमारा शरीर अनेक प्रकार के उत्तकों और अंगों से मिलकर बना है । इस शरीर मे हर एक अंग का एक विशेष कार्य होता हैं । 

हमारे शरीर मे अनेक प्रकार की रासायनिक अभिक्रिया होती रहती है । जिसके लिए शरीर अनेक प्रकार के रसायनों की पूर्ति हमारे द्वारा लिए जाने वाले भोजन और हमारे द्वारा की जाने वाली क्रियाकलापों से उत्सर्जित होने वाले हार्मोन्स की सहायता से पूरी की जाती हैं । 

इसी प्रकार हमारी शरीर का एक सबसे महत्वपूर्ण अंग है । हमारे शरीर मे बहने वाला खून । हो सकता है कि आपको लगता हो कि हमारे शरीर मे खून का काम सिर्फ बहना है लेकिन दोस्तो आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारे जीने और मरने का आधार हमारा खून ही होता है । क्योकि हमे जिंदा रहने के लिए सांस की आवश्कयता होती है ।

 और ये सांसे हम अपने फेफड़ों के द्वारा शरीर के अंदर लेते है । शरीर के अंदर जाने के बाद इस हवा को पूरे शरीर मे यहां तक कि हमारे दिमाग और हमारी आंखों के टिसस्यू तक पहुंचाने का काम खून का ही होता हैं ।  दूसरे शब्दों में हम कह सकते है कि खून हमारे शरीर मे हवा यानी कि ऑक्सीजन की आपूर्ति करता है ।

दोस्तो जब शरीर मे खून हवा लेकर जाने का कार्य करता हैं तो हवा दाब बनाती है । और इसी कारण खून में वायु की उपस्थिति से हमारे शरीर मे एक दाब क्षेत्र उतपन्न होता हैं। इसे रक्तदाब कहते हैं । 

इसी रक्तदाब के कारण हमारे शरीर मे अनेक क्रियाकलाप पूरे होते हैं । जब शरीर मे बहने वाले रक्त की गति कम हो जाती है तो इसे रक्त दाब का कम होना यानी कि ब्लड प्रेशर लौ होना कहते हैं । इसी प्रकार जब रक्त पतला हो जाता है । 

यानी जब रक्त के प्रावह की गति बढ़ जाती है तो इसे रक्त दाब का बढ़ना कहते हैं । यानी इसे हाई ब्लड प्रेशर कहते है ।

किसी व्यक्ति का ब्लड प्रेशर कैसा है । ये जानना भी जरूरी होता हैं । क्योकि ब्लड प्रेशर के बढ़ने और घटने से शरीर मे अनेक प्रकार की बीमारियां उतपन्न होने लगती है और कई बार तो ब्लड प्रेशर के कारण व्यक्ति की मौत तक हो जाती हैं । 

इसलिए ब्लड प्रेशर सही है या नही इसका ज्ञान होना बहुत जरूरी हैं । इसी रक्त दाब को मापने में जिस यंत्र को काम लिया जाता हैं उसे रक्तदाब मापी यंत्र यानी कि बीपी मशीन कहते है।

आज के इस आर्टीकल में हम बीपी मशीन क्या है और इसके इतिहास पर एक नजर डालेंगे ।

बीपी मशीन का आविष्कार किसने किया
बीपी मशीन का आविष्कार किसने किया

बीपी मशीन का आविष्कार कब और किसने किया ?

बीपी मशीन क्या है और इसकी खोज किसने की ? –

सन 1896 में रक्तचाप मापी यंत्र की खोज की गई थी । इस यंत्र की खोज डॉ रिगरोसी ने की थी । यह प्रकार का यंत्र है जो व्यक्ति के शरीर मे बहने वाले रक्त के प्रवाह की गति की सीमा को बताता है ।

 इससे व्यक्ति के शरीर के बहने वाले रक्त की गति को मापा जाता है और इसी के आधार पर ही ये घोषणा की जाती है की ब्लड प्रेशर लौ है या ब्लड प्रेशर हाई हैं । इस यंत्र में एक रबर की नली होती है जो दो भागों में बटी रहती हैं ।

 जिंसमे से एक बाग पारे से भरी कांच की नली से जुड़ा होता है तो वही दूसरा भाग हाथ पर बांधे जाने वाले पट्टे से जुड़ा होता हैं ।

 इस पारे से भरी नली पर एक पैमाना बना होता हैं । इसी पैमाने की सहायता से रक्तचाप का मान ज्ञात किया जता हैं ।  यह रबर की पाइप एक पम्प से जुड़ी रहती हैं ।

 इस यंत्र को व्यक्ति की बाजू पर बांधा जाता है और एक पम्प की सहायता से इसमें हवा भारी जाती है।  इसके बाद एक स्टेसथस्कोप कि सहायता से नाड़ी की ध्वनि को सुना जाता हैं ।

 धीरे धीरे पम्प की हवा को छोड़ा जाता है और जिस मान पर व्यक्ति की नाड़ी की ध्वनि सुनाई देने लगती हैं । तब पम्प से हवा को छोड़ना बन्द कर दिया जाता है । उसके बाद कांच की नली में ऊपर की और चढ़े पारे के मान को नोट कर लिया जाता है । यही मान व्यक्ति के ब्लड प्रेशर का मान होता हैं ।

 

ब्लड प्रेशर का माप आयु का अनुसार –

दोस्तो हमारे शरीर मे बहने वाले रक्त का माप यानी कि रक्तचाप का माप हर उम्र के लिए अलग अलग होता है । यहां पर उम्र के अनुसार रक्तचाप के मान दिए जा रहे हैं ।

रक्तचाप आयु के अनुसार निम्नलिखित होता है :

1. बाल्यावस्था  – 75 से 90  मिलीमीटर

2. किशोरावस्था  – 90 से 110 मिलीमीटर

3. युवावस्था – 100 से 120 मिलीमीटर

4. प्रौढ़ावस्था – 120 से 130 मिलीमीटर

5. वृद्धावस्था –  140  से 150 मिलीमीटर

दोस्तो इसके अलावा रक्तचाप का मान निकालने के लिए व्यक्ति की आयु में 90 को जोड़ दिया जाता है जो उस आयु के लिए एक आदर्श रक्तचाप है । इस मान से अधिक होने पर रक्तचाप ज्यादा और कम होने पर रक्तचाप कम होता है ।।

 उदाहरण के तौर पर हमें किसी 30 के व्यक्ति के शरीर का आदर्श रक्तचाप का मान ज्ञात करना है तो हम उस व्यक्ति की आयु में 90 को जोड़ देंगे जैसे – 30 + 90 = 120 मिलीमीटर ये उस व्यक्ति के शरीर का आदर्श रक्तचाप है । 

इस उम्र के व्यक्ति का इससे ज्यादा और ना ही इससे कम रक्तचाप होना चाहिए । इससे ज्यादा या कम होना शरीर में किसी प्रकार की विकृति का सूचक हैं ।  समान्यतः व्यक्ति के शरीर का ब्लड प्रेशर किसी भी आयु में 160 से ज्यादा नही होना चाहिए ।

 अगर ऐसा है तो उस व्यक्ति को डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए ।

बीपी मशीन के प्रकार –

समान्यतः ब्लड प्रेशर मापने की मशीन दो प्रकार की होती है ।

1. साधारण रक्तचाप मापी –

इस प्रकार की रक्तचाप मापी में दाबमापी यंत्र के साथ – साथ अच्छे और विशेष परीक्षण की आवश्यकता भी होती हैं । अगर ऐसा नही  है तो ये मानकर चलिये बीपी का मान गलत ही आएगा ।

2. स्वचालित रक्तचाप मापी यंत्र –

इस प्रकार के यंत्र में किसी भी प्रकार के परीक्षण की आवश्यकता नही होती है क्योकि सारे काम यह स्वतः ही करता है और आपके सामने रक्तचाप माप देता हैं । जो किसी भी और तरीके से ज्यादा सटीक होता है ।

बीपी चैक करते समय रखी जाने वाली सावधानियां –

1. बीपी चैक करवाते समय कम से कम 30 मिनट पहले से सांस उफनने वाली किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज को रोक दे ।

2. बीपी चैक करवाने से पहले किसी भी प्रकार का नशा नही करे ।

3. बीपी चैक करवाते समय चाय या कॉफी का सेवन भी नही करना चाहिए ।

4. जांच करवाने से पहले मूत्र विसर्जन अवश्य कर ले । जांच के समय मूत्राशय खाली रहना चाहिए । क्योकि इससे भी ब्लड प्रेशर का मान बढ़ जाता हैं ।

5. ब्लड प्रेशर चैक करने के बाद मान सही नही आने के बाद दोबारा चैक करने के लिए 5 मिनट का अंतराल अवश्य ले ।

6. जांच के समय शांत रहे । किसी से भी किसी भी प्रकार की बाते ना करे ।

बीपी मशीन के फायदे –

बीपी मशीन से आप लोगो को क्या फायदा हो सकता है इसकी जानकारी आपको नीचे दी जा रही हैं ।

1. नियमित रूप से ब्लड प्रेशर मापने से अनेक बीमारियों के बारे में पहले से ही पता चल जाता है ।

2. नियमित जांच से हार्ट फैल , स्ट्रोक जैसी स्तिथि से समय रहते ही आसानी से निपटा जा सकता हैं।

3.  ब्लड प्रेशर मशीन एम्बुलेटरी ब्लड प्रेशर के बारे में जानकारी प्रदान करती है । इससे भविष्य में होने वाली बीमारिया जो शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचा सकती है । उनसे समय रहते ही बचा जा सकता हैं ।

4.  ऑटोमेटिक बीपी मशीन उन व्यक्तियों के लिए किसी वरदान से कम नही है जो किसी भी कारणवश हॉस्पिटल जाने के सक्षम नही हैं ।

ब्लड प्रेशर मशीन की कीमत –

दोस्तो आज लगातार बदलती तकनीक की दुनिया मे बाजार में अनेक प्रकार की बीपी मशीन उपलब्ध हैं । उनमे से कुछ सामान्य उपयोग की जाने वाली मशीनों की कीमत नीचे बताई जा रही है । ताकि आप अपनी सुविधा और बजट के अनुसार इसे खरीद सके ।

1. मर्करी ब्लड प्रेशर मशीन

मर्करी ब्लड प्रेशर मशीन की शुरुआती कीमत लगभग 1,700 रुपये है।

2. एनेरोइड ब्लड प्रेशर मशीन

इस मशीन की शुरुआती कीमत लगभग 700 रुपये है।

3. डिजिटल ब्लड प्रेशर मशीन

डिजिटल ब्लड प्रेशर मशीन की शुरुआती कीमत लगभग 1,000 रुपये है।

निष्कर्ष

दोस्तो हमने इस अर्टिकल में आपको रक्तचाप मापी से सम्बंधित अनेक प्रकार की जानकारी से अवगत करवाया हैं । हमने अनेक स्रोतों से आपके लिए सबसे अच्छी और सबसे लाभदायक जानकारी उपलब्ध करवाने की कोशिश की हैं । इस आर्टिकल में हमने रक्तचाप मापी क्या है ? , ये कैसे काम करता है ? , इसका सिद्धान्त क्या है ? , इसकी खोज के पीछे छिपी कहानी और रक्तचाप मापी के प्रकार के बारे में पूरी जानकारी दी हैं ।

बीपी मशीन का आविष्कार किसने किया आपको यह जानकारी कैसे लगी इसके  बारे में आप हमें जरूर बताएं । आपके कमेंट हमारे लिए काफी काम के होते हैं । इससे हमें आपके लिए कुछ नया करने की प्रेरणा मिलती हैं ।

आपको यह जानकारी पसन्द आयी हो तो आप इस जानकरी को अपने मित्रों और सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर जरूर शेयर करे ताकि इस प्रकार की कीमती जानकारी से हर कोई लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

HindiHelpAdda.Com के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. यहाँ पर हम हिंदी में पैसे कैसे कमाएँ, ब्लॉगिंग, कैरियर ,टेक्नोलॉजी, इन्टरनेट, सोशल मीडिया, टिप्स ट्रिक, फुल फॉर्म और बहुत कुछ जानकारी हिंदी में साझा करते है। आप सभी का HindiHelpAdda.Com से जुड़ने के लिए दिल से धन्यवाद्।।

a

Leave a Comment